ट्रंप के शपथ ग्रहण समारोह में नहीं जाएंगी भारतीय-अमेरिकी सांसद प्रमिला

भाषा

Updated: January 16, 2017, 6:06 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

वॉशिंगटन। सिएडल से सांसद चुनी गईं भारतीय मूल की अमेरिकी नागरिक प्रमिला जयपाल ने घोषणा की है कि वह डोनाल्ड ट्रंप के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा नहीं लेंगी। उनका कहना है कि अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति की भाषा और कामकाज अमेरिकी लोकतंत्र और उसके इतिहास की छवि खराब करते हैं। जयपाल ने रविवार को एक बयान में कहा कि मैंने यह फैसला हल्के में नहीं लिया है। अभी तक करीब दो दर्जन सांसदों ने ट्रंप के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा नहीं लेने की घोषणा की है।

जयपाल ने कहा कि मैंने आशा की थी कि चुनाव के बाद निर्वाचित राष्ट्रपति अपने चुनावी ढर्रे से बाहर निकलेंगे और अमेरिका के लोगों को एकजुट करने की दिशा में काम करेंगे। लेकिन ऐसा करने के बजाए, हमने देखा कि निर्वाचित राष्ट्रपति उस भाषा का इस्तेमाल करते रहे और ऐसे काम करते रहते जिसने हमारे इतिहास और हमारे विभिन्न हीरो को बदनाम किया और हमारे लोकतंत्र की छवि खराब की। इस महीने की शुरुआत में संसद के संयुक्त सत्र के दौरान ट्रंप के जीत की पुष्टि का विरोध करने वाली एकमात्र सांसद जयपाल ने आरोप लगाया कि कैबिनेट में उनके द्वारा की जा रही नियुक्तियां राष्ट्रपति कार्यकाल के दौरान आने वाली गंभीर खतरों की ओर इशारा करते हैं।

ट्रंप के शपथ ग्रहण समारोह में नहीं जाएंगी भारतीय-अमेरिकी सांसद प्रमिला
सिएडल से सांसद चुनी गईं भारतीय मूल की अमेरिकी नागरिक प्रमिला जयपाल ने घोषणा की है कि वह डोनाल्ड ट्रंप के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा नहीं लेंगी।

उन्होंने कहा कि स्टीव बेनन, जेफ सेशंस और एन्ड्र्यू पुदजर जैसे लोगों की नियुक्ति ही हमारे देश के मूल ताना-बाना और इन लोगों के नेतृत्व में दिए जाने वाले संस्थानों के लिए खतरा है। ये लोग मुस्लिम रजिस्ट्री बनाने, डीएसीए को खत्म करने, बिना दस्तावेज वाले लाखों आव्रजकों को वापस उनके देश भेजने, गर्भपात के लिए महिलाओं को सजा देने के अपने वादों पर कायम हैं और यह हमारे 7वें जिले के नैतिक मूल्यों के मुंह पर तमाचा है। डोनाल्ड ट्रंप के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए वॉशिंगटन डीसी में रहने के बजाए जयपाल अपने संसदीय क्षेत्र में लोगों के साथ आव्रजन विषय पर एक सेमिनार में हिसा लेंगी।

सामान्य समितियों के अलावा, प्रमिला जयपाल हाउस डेमोक्रेट्स के लिए वरिष्ठ सचेतक और कांग्रेशनल प्रोग्रेसिव कॉकस के उपाध्यक्ष के रूप में भी काम करेंगी। वरिष्ठ सचेतक होने के नाते जयपाल अपने डेमोक्रेट सहयोगियों को एकत्र करने, आगामी विधेयकों के बारे में उनसे चर्चा करेंगी और पार्टी नेतृत्व के साथ विधायी रणनीति पर समन्वय करेंगी। हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स में डेमोक्रेटिक सचेतक स्टेनी होयर ने कहा कि मुझे रिप्रेजेंटेटिव जयपाल का कांग्रेस और अपनी व्हिप टीम में स्वागत करते हुए प्रसन्नता हो रही है। मीडिया में जारी विज्ञप्ति के अनुसार, प्रोग्रेसिव कॉकस में एक नेता के रूप में जयपाल विभिन्न नीतिगत मुद्दों पर बात करेंगी जैसे 15 डॉलर प्रति घंटे की दर से राष्ट्रीय न्यूनतम वेतन, विस्तृत आव्रजन सुधार, ऋण- मुक्त कॉलेज, आपराधिक न्याय सुधार, महिलाओं की प्रजनन अधिकारों की सुरक्षा और बंदूक हिंसा सुधार आदि।

First published: January 16, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp