ट्रंप सरकार में पहला रंगभेदी हमला, भारतीय इंजीनियर की गोली मारकर हत्‍या


Updated: February 24, 2017, 10:35 AM IST
ट्रंप सरकार में पहला रंगभेदी हमला, भारतीय इंजीनियर की गोली मारकर हत्‍या
Photo: News18

Updated: February 24, 2017, 10:35 AM IST

डोनाल्‍ड ट्रंप के राष्‍ट्रपति बनने के बाद अमेरिका मेें पहला रंगभेद का मामला और उसके नाम पर एक भारतीय की हत्‍या का मामला सामने आया है. कंसास में एक भारतीय आप्रवासी इंजीनियर की गोली मारकर हत्या कर दी गई.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर इस घटना का जिक्र करते हुए लिखा, मैंने हैदराबाद में श्रीनिवास के भाई केके शास्त्री और पिता से बात की और शोक संवेदना व्य​क्त की. उन्होंने परिवार को हर तरह की मदद का आश्वासन भी दिया. साथ ही कहा कि श्रीनिवास के पार्थिव शरीर को हैदराबाद लाने के लिए भी पूरी व्यवस्था करेंगी.

 

नौसेना का पूर्व अधिकारी है हमलावर 

कंसास शूटिंग में एक अन्य भारतीय सहित अमेरिकी नागरिक भी इस घटना में घायल हो गए. वारदात को अंजाम देने वाला आरोपी नौसेना का पूर्व अधिकारी बताया जा रहा है.

जानकारी के मुताबिक, हैदराबाद के रहने वाले और अमेरिका स्थित एक कंपनी में एविएशन इंजिनियर श्रीनिवास कुचिभोतला (32) बुधवार रात को कैनसस स्थित ऑस्टिन्स ग्रिल एंड बार पहुंचे थे. यहां पर उनके पास ऐडम प्यूरिंटन (51) नामक शख्स बैठा था जो काफी नशे में था.

श्रीनिवास और उसके साथी आलोक मदासनी को देख ऐडम प्यूरिंटन ने नस्लीय टिप्पणी करना शुरू कर दी. इस पर जब बार में मौजूद स्टाफ ने उसे रोकने की कोशिश की तो उसने "मेरे देश से निकल जाओ" कहते हुए श्रीनिवास पर फायरिंग कर दी.

श्रीनिवास को बचाने की कोशिश करने पर आरोपी ने आलोक मदासनी और एक अन्य शख्स इयान ग्रिलोट पर भी गोली चला दी. सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची.

घायलों को अस्पताल ले जाया गया, जहां उनका उपचार जारी है. वहीं गोली लगने और खून ज्यादा बह जाने के कारण श्रीनिवास कुचिभोतला की मौत हो गई.

वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी ने अपने एक दोस्त को फोन किया कि उसने दो 'मध्य एशियाई' लोगों को गोली मार दी है और उसे छिपने की जगह चाहिए.

पुलिस कॉल ट्रेस करते हुए आरोपी तक पहुंच गई और उसे गिरफ्तार कर लिया. बताया जा रहा है कि गोली चलाने वाला ऐडम प्यूरिंटन (51) पूर्व में नौसेना में काम करता था.

First published: February 24, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर