आईएस ने खत्म किया मासूमों का बचपन, तैयार किए आतंक के ‘बाल यमराज’

News18India
Updated: January 4, 2017, 7:31 AM IST
News18India
Updated: January 4, 2017, 7:31 AM IST
नई दिल्ली। आईएस ने एक नया वीडियो जारी किया है जिसे देखकर आप प्यार, गुस्से, नफरत और दर्द के एक ऐसे मकड़जाल में उलझ जाएंगे जहां से आसानी से निकल पाना मुमकिन नहीं। इस वीडियो में मासूम उम्र की दहलीज लांघने में जिन्हें दिक्कत आती है उन्हें मिलेट्री ट्रेनिंग दी जा रही है। महज 9 से 13 साल की उम्र वाले इन बच्चों का बचपन छीनकर इन्हें चलता-फिरता हथियार बनाया जा रहा है और ट्रेनिंग भी ऐसी-वैसी नहीं बिल्कुल प्रफेशनल। अपने साथी को उठाकर लंबी दूरी तय करनी हो या फिर आमने-सामने की लड़ाई में दो-दो हाथ करना हो, ये छोटे बम सब में महारथ हासिल कर रहे हैं।

इस्लामिक स्टेट के जेहादियों के गुट में शामिल ये बच्चे किसी भी दूसरे बच्चों की ही तरह अपनी जिंदगी बसर करते हैं। वो अपने छोटे भाई या बहन के साथ वैसा ही बर्ताव करते दिखते हैं जैसा इस रेतीली जमीन पर आम तौर पर नज़र आ जाता है। मगर इनका दर्जा इनकी जमात में थोड़ा अलग माना जाता है क्योंकि मजहब के नाम पर इन बच्चों को इनके माता पिता ने उन शैतानों के हवाले कर दिया, जिन्होंने ये पट्टी पढ़ाने में कामयाबी हासिल कर ली कि बर्बादी के इस रास्ते में ही जन्नत का दरवाजा खुलता है।

आतंकी बने बच्चों ने दी रुस के राष्ट्रपति को धमकी

आईएस के इस वीडियो में ऑरेंज जंप सूट में दो बंधक घुटनों के बल बैठे दिख रहे हैं और उनके पीछे दहशतगर्दों के वेश में दो बच्चे बंदूक लिए खड़े नज़र आ रहे हैं। हाथों में पिस्तौल थामे ये बच्चे जो कुछ बोल रहे हैं उनकी जुबान भी नहीं लड़खड़ा रही। उनकी आंखों में कोई डर नहीं नज़र आ रहा और उनके हाथ भी कांपते दिखाई नहीं पड़ रहे। इस वीडियो में आईएस के तैयार किए चार मासूम रुसी राष्ट्रपति पुतिन के नाम धमकी भरा पैगाम देकर, चार रुसी नागरिकों को गोली मारकर मौत की नींद सुला देते हैं।

हैरानी वाली बात ये है कि दो पूरे इंसानों को गोली मारते वक्त ना ही इन बच्चों का दिल दहला ना ही इनके हाथ कांपे। ठीक उसी तरह जैसे आईएस के आतंकी लोगों को मौत के घाट उतारते थे। दरअसल, ये वीडियो इराक के पूर्वी इलाके से सामने आया है। जहां अभी भी इस्लामिक स्टेट के आतंकियों का कब्जा है और अगर इराक की जमीन पर चल रही जंग पर नज़र रखने वाले जानकारों की मानें तो इस वीडियो को जारी करने का मकसद साफ है उन लोगों को ये पैगाम देना कि बग़दादी के पास अब भी कई ऐसे हथियार मौजूद हैं जिन्हें सामने देखकर दुनिया चौंक सकती है। इससे पहले भी आईएसआईएस ऐसे कई वीडियो जारी कर चुका है जिसमें वो छोटे छोटे मासूम बच्चों को आतंक की ट्रेनिंग देता दिखाई दिया था।
First published: January 4, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर