लंदन में मुसलमानों पर आतंकी हमला एक साजिश थी?

भाषा
Updated: June 20, 2017, 3:24 PM IST
लंदन में मुसलमानों पर आतंकी हमला एक साजिश थी?
लंदन की एक मस्जिद के निकट आतंकी हमले को अंजाम देने वाले 47 साल के हमलावर ने इस घटना से एक दिन पहले मुसलमानों के बारे में अपशब्द कहे थे जिस वजह से उसे एक पब से बाहर निकाल दिया गया था.
भाषा
Updated: June 20, 2017, 3:24 PM IST
लंदन की एक मस्जिद के निकट आतंकी हमले को अंजाम देने वाले 47 साल के हमलावर ने इस घटना से एक दिन पहले मुसलमानों के बारे में अपशब्द कहे थे जिस वजह से उसे एक पब से बाहर निकाल दिया गया था.

डैरेन ओजबोर्न ने फिन्सबरी पार्क में सेवेन सिस्टर्स रोड स्थित मस्जिद के निकट लोगों के बीच वैन घुसा दी थी जिससे 11 लोग घायल हो गए थे. घटना के तत्काल बाद पुलिस ने ओजबोर्न को गिरफ्तार कर लिया था. इस घटना के सभी पीड़ित मुसलमान हैं और इसे मुसलमानों पर हुआ आतंकी हमला करार दिया गया है.

ओजबोर्न के पड़ोसियों का कहना है कि हाल ही में उसे उसकी साथी सारा एंड्रयूज ने घर से बाहर निकाल दिया था जिसके बाद वह टेंट में रहने को मजबूर हो गया था. कई लोगों का दावा है कि बीते शनिवार की रात उसे हॉलीबस क्लब से बाहर निकाल दिया गया क्योंकि वह नशे की हालत में मुसलमानों के बारे में अपशब्द कह रहा था.

दूसरी तरफ, ओजबोर्न की मां क्रिस्टीन ने कहा कि उनका बेटा आतंकवादी नहीं था और उसने पहले मुसलमानों को लेकर नफरत का कोई संकेत भी नहीं दिया था. क्रिस्टीन ने कहा कि यह किसी भी मां के लिए बुरे ख्वाब जैसा है. फिन्सबरी पार्क की घटना के हर पीड़ित के साथ मेरी संवेदना है.

 
First published: June 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर