गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स में मेरिल स्ट्रीप ने ट्रंप को क्या-क्या कहा जरूर पढ़िए


Updated: January 9, 2017, 3:46 PM IST
गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स में मेरिल स्ट्रीप ने ट्रंप को क्या-क्या कहा जरूर पढ़िए
वरिष्ठ अभिनेत्री मेरिल स्ट्रीप ने गोल्डन ग्लोब अवार्ड समारोह में सेसिल बी डीमिले अवॉर्ड स्वीकार करते हुए मंच से राजनीतिक टिप्पणियों से भरा हुआ जोरदार भाषण दिया।

Updated: January 9, 2017, 3:46 PM IST
लॉस एंजिलिस। वरिष्ठ अभिनेत्री मेरिल स्ट्रीप ने गोल्डन ग्लोब अवार्ड समारोह में सेसिल बी डीमिले अवॉर्ड स्वीकार करते हुए मंच से राजनीतिक टिप्पणियों से भरा हुआ जोरदार भाषण दिया और हॉलीवुड की समृद्ध विविधता को रेखांकित करने के लिए भारतीय मूल के अभिनेता देव पटेल जैसे कलाकारों का जिक्र किया।

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की प्रतिद्वंद्वी हिलेरी क्लिंटन की समर्थक रहीं स्ट्रीप ने अपने इस भाषण में ट्रंप का नाम तो नहीं लिया लेकिन ताकतवर लोगों द्वारा दूसरों को प्रताड़ित करने के लिए पद का इस्तेमाल करने के खिलाफ चेतावनी दी।

स्ट्रीप ने कहा कि हम सब कौन हैं और हॉलीवुड क्या है? यह एक ऐसी जगह है, जहां अन्य जगहों से लोग आए हैं। हॉलीवुड की समृद्ध विविधता को रेखांकित करते हुए उन्होंने कहा कि एमी एडम्स इटली में जन्मी, नताली पोर्टमैन का जन्म यरूशलम में हुआ। इनके जन्म प्रमाण पत्र कहां हैं? देव पटेल का जन्म केन्या में हुआ, पालन-पोषण लंदन में हुआ और यहां वह तसमानिया में पले-बढ़े भारतीय की भूमिका निभा रहा है।

उन्होंने कहा कि हॉलीवुड बाहरी और विदेशी लोगों से भरा पड़ा है और यदि आप हम सबको बाहर निकाल देते हैं तो आपके पास फुटबॉल और मिक्स्ड मार्शल आर्ट के अलावा कुछ भी देखने को नहीं मिलेगा और ये दोनों ही कला नहीं हैं। कई पुरस्कार जीत चुकी अभिनेत्री मेरिल स्ट्रीप हॉलीवुड में एक सम्मानित हस्ती हैं। उन्होंने कहा कि इस साल जो प्रस्तुति सबसे अलग रही, वह किसी अभिनेता की नहीं बल्कि ट्रंप की थी। यह प्रस्तुति उन्होंने एक विकलांग पत्रकार का सार्वजनिक तौर पर मजाक उड़ाते हुए दी थी।

स्ट्रीप ने कहा कि इसमें कुछ भी अच्छा नहीं था लेकिन उनकी यह हरकत अपना काम कर गई। इसने अपने दर्शकों को हंसा दिया, उनके दांत दिखाई देने लगे थे। यह एक ऐसा क्षण था, जब हमारे देश के सबसे सम्मानित पद पर बैठने की बात करने वाला एक व्यक्ति एक विकलांग पत्रकार की नकल उतार रहा था। एक ऐसे व्यक्ति की नकल, जो वापस लड़ सकने की ताकत और क्षमता के मामले में उनसे कहीं पीछे था।

स्ट्रीप ने कहा कि जब मैंने उसे देखा तो मेरा दिल टूट गया। मैं अब भी उसे भुला नहीं पाती क्योंकि वह कोई फिल्म नहीं थी, असली जिंदगी में ऐसा किया गया था। जब कोई सार्वजनिक मंच पर किसी को प्रताड़ित करने के लिए ऐसा करता है तो यह सबके जीवन तक जाता है क्योंकि यह दूसरों को ऐसा ही करने की एक तरह से अनुमति दे देता है। उन्होंने कहा कि अपमान दरअसल अपमान को ही आमंत्रित करता है, हिंसा दरअसल हिंसा को भड़काती है। जब ताकतवर लोग दूसरों को प्रताड़ित करने के लिए अपने पद का दुरूपयोग करते हैं तो यह हम सबकी हार होती है। अभिनेत्री ने प्रेस से ट्रंप के सामने डटकर खड़े होने को कहा।

उन्होंने पत्रकारों के लिए कहा कि हमें ऐसा प्रेस चाहिए जो सत्ताधारियों को जवाबदेह ठहराए, हर उल्लंघन के लिए उन्हें सामने खड़ा करे। आगे बढ़ने के लिए हमें उनकी जरूरत पड़ने वाली है और सच्चाई की सुरक्षा के लिए उन्हें हमारी जरूरत पड़ने वाली है। स्ट्रीप (67) ने दिवंगत कैरी फिशर के कथन के साथ अपना भाषण खत्म किया। उन्होंने कहा कि जैसा कि मेरी दोस्त, दिवंगत प्रिंसेस लिया ने मुझसे कहा था कि अपने टूटे हुए दिल को कला की शक्ल दे दो।
First published: January 9, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर