गोवा-पंजाब में भी बेईमानी करती तो पकड़ी जाती बीजेपी : मायावती


Updated: March 15, 2017, 12:38 PM IST

Updated: March 15, 2017, 12:38 PM IST
लखनऊ. यूपी विधानसभा चुनाव में बुरी तरह हारीं मायावती ने एक बार फिर बीजेपी पर गुस्सा निकाला है. उन्होंने कहा कि यह लोकतंत्र की हत्या की जीत है. मायावती ने कहा, "अगर बीजेपी को मेरी बात बुरी लगती हैं तो चुनाव दुबारा कराकर अपनी ईमानदारी का सबूत देना चाहिए. हालांकि, ये लोग ऐसा नहीं करेंगें क्योंकि ये बेईमान हैं." बसपा फाउंडर कांशी राम की 83वें जन्मदिन के मौके पर उन्होंने ये बात कही.

उन्होंने कहा, "हमें शांत और ठंडे होकर बैठना नहीं है. यूपी-उत्तराखंड चुनाव में केंद्र सरकार ने ईवीएम में धांधली करके जो जीत हासिल की है, ये जनता के गले नहीं उतर रही है. इस पर पर्दा डालने के लिए बीजेपी के नेता बोल रहे हैं कि हमने पंजाब गोआ में बेईमानी क्यों नहीं की? जनता को बेवकूफ न समझें. अगर वहां भी छेड़छाड़ करते तो आसानी से पकडे जाते. पंजाब में अकालियों से इनकी बनती नहीं है इसलिए पंजाब में हेराफेरी नहीं की. पाप का घड़ा एक दिन ज़रूर फूटता है और इनका वक्त भी जल्द ही आने वाला है."

मायावती ने कहा, "मीडिया के मालिक धन्ना सेठ हैं और उन्हें बीजेपी एंड कंपनी के लोगों ने कब्जे में लिया हुआ है. हमारी रैलियों में भीड़ देखकर लगता था कि इतनी कम सीटें बसपा को मिलेंगीं?"

उन्होंने कहा, "हमारे लोग कह रहे हैं हमने वोट दिया था बसपा को लेकिन चला गया बीजेपी को. मुस्लिम और दलितों के इलाकों में भी इनके वोट निकल रहे हैं. ये किसके गले उतरेगा?"

इस दौरान मायावती ने मुस्लिमों द्वारा बीजेपी को वोट दिए जाने की चर्चा पर भी सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि बीजेपी इस बात का प्रचार कर रही है कि मुस्लिम महिलाओं ने ट्रिपल तलाक मुद्दे के कारण उन्हें वोट दिया. लेकिन यह सोचने वाली बात है कि वो अपने मजहब साइड करके बीजेपी को वोट कैसे दे सकती हैं? मायावती ने कहा कि अगर बीजेपी वाले इतने ही शुभचिंतक हैं तो मुस्लिम महिलाओं को टिकट दे देते.
First published: March 15, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर