मोदी से घबराए चीन-पाक, साथ मिलकर बनाएंगे बैलेस्टिक मिसाइल और फाइटर जेट

News18Hindi

Updated: March 17, 2017, 6:59 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

भारत में पीएम नरेंद्र मोदी के बढ़ते प्रभाव से परेशान चीन और पाकिस्तान की दोस्ती अब और मजबूत होने जा रही है. चीन और पाकिस्तान के नए फैसले के मुताबिक अब दोनों देश साथ मिलकर बैलिस्टिक मिसाइल, क्रूज मिसाइल और लड़ाकू विमान बनाएंगे. चीन की सरकारी मीडिया के मुताबिक दोनों देश सैन्य सहयोग को नए स्तर तक ले जाने की तैयारी में है.

चीन के दौरे पर पाक सेना प्रमुख

मोदी से घबराए चीन-पाक, साथ मिलकर बनाएंगे बैलेस्टिक मिसाइल और फाइटर जेट
Image Source: PTI

गौरतलब है कि पाकिस्तान के नए सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा चीन की अपनी पहली यात्रा पर हैं. बाजवा ने गुरुवार को सेंट्रल मिलिट्री कमीशन के तहत चीन के ज्वाइंट स्टाफ डिपार्टमेंट फंग फेंघुई से मुलाक़ात की. इसके आलावा बाजवा ने चीन के कार्यकारी उप प्रधानमंत्री झांग गाओली, सेंट्रल मिल्रिटी कमीशन के उपाध्यक्ष जनरल फैन चांगलांग और पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के कमांडर जनरल ली झाउचेंग से मुलाक़ात कर सैन्य सहयोग बढ़ाने पर चर्चा की.

मोदी की बढ़ती लोकप्रियता से परेशान है चीन-पाक

बता दें कि यूपी में बीजेपी की बंपर जीत ने भी चीन की चिंता बढ़ा दी है. चीनी अखबार 'ग्लोबल टाइम्स' में बुधवार को छपी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि बीजेपी की यूपी जीत के बाद चीन और भारत के संबंधों में भारत का रुख और सख्त होना तय है. 'ग्लोबल टाइम्स' यह भी लिखा गया है कि मोदी सरकार आने के बाद से ही भारत आक्रामक रुख दिखाता रहा है और यूपी की जीत के बाद भारत की आक्रामकता और बढ़ जाएगी. भारत अब चीन जैसे देशों के साथ समझौता नहीं करने की नीति के साथ आगे बढ़ेगा.

अग्नि 5 के परीक्षण के बाद घबराया चीन

बता दें कि चीन भारत के मिसाइल प्रोग्राम को लेकर पहले भी कई बार नाराजगी जाहिर कर चुका है. चीन ने धमकी दी थी कि अगर भारत ने इसपर रोक नहीं लगाई तो वो पाकिस्तान के मिसाइल प्रोग्राम को खुलकर सपोर्ट करेगा. भारत के अग्नि 5 के सफल परीक्षण के बाद अब चीन ने इसके जवाब में पाकिस्तान के साथ सैन्य सहयोग बढ़ाने का फैसला लिया है.

क्या है चीन के एजेंडे में

चीन इस नीति के तहत पाकिस्तान में बैलिस्टिक मिसाइलों, क्रूज मिसाइलों, विमान रोधी मिसाइलों, जहाज रोधी मिसाइलों और मुख्य युद्धक टैंकों के निर्माण को चीन की मंजूरी भी इसके एजेंडे में है.

(एजेंसी से इनपुट)

First published: March 17, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp