सूरज की छानबीन: गुब्बारे को दक्षिणी ध्रुव से वापस लाया नासा

News18India

Updated: February 28, 2017, 12:41 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

वैज्ञानिक प्रयोग करने वाले एक गुब्बारे को नासा ने एक साल बाद दक्षिणी ध्रुव से बाहर निकाला है. नासा का ये गुब्बारा नीचे गिरने के बाद दक्षिणी ध्रुव की बर्फ फांक रहा था, लेकिन उस हादसे के एक साल बाद नासा के वैज्ञानिक दक्षिण ध्रुव में उस जगह पहुंचे जहां उनका गुब्बारा गिरा था.

वैज्ञानिकों ने गुब्बारे के वैज्ञानिक उपकरणों पर पड़ी बर्फ को हटाया और उन्हें अपने विमान पर चढ़ा लिया. लॉन्च के बाद इस गुब्बारे ने पिछले साल जनवरी में 12 दिन तक अंटार्कटिका का चक्कर लगाया था, लेकिन ये दक्षिणी ध्रुव में उठने वाले तूफान में फंस गया था. वो ऐसी जगह जा गिरा था जहां तक उस वक्त पहुंचना आसान नहीं था.

सूरज की छानबीन: गुब्बारे को दक्षिणी ध्रुव से वापस लाया नासा
वैज्ञानिक प्रयोग करने वाले एक गुब्बारे को नासा ने एक साल बाद दक्षिणी ध्रुव से बाहर निकाला है.

पलक झपकते ही मंजिल पर होगा इंसान, नासा बना रहा ऐसे विमान

लेकिन गुब्बारे के साथ भेजे गए वैज्ञानिक उपकरण को वापस पाने के लिए नासा ने मौसम ठीक होने का एक साल से ज्यादा लंबा इंतजार किया. गुब्बारे में सूरज की छानबीन करने वाला टेलीस्कोप लगा था.

NASA_Ballon_News18india_280217

जिसे नासा की लैब में लंबे रिसर्च के बाद बनाया गया था. इस उपकरण के बीच में ही सफेद रंग का टेलीस्कोप था जिसके नीचे सोलर पैनल लगे थे. इन्हें फुटबॉल के मैदान के बराबर लंबे-चौड़े गुब्बारे से बांध कर एक क्रेन के सहारे हवा में उड़ाया गया था. दक्षिणी ध्रुव का चक्कर काटते हुए इस टेलीस्कोप ने सूरज पर उठने वाले इलेक्ट्रो-मैग्नेटिक लपटों का अध्य्यन किया था. सूरज की इन लपटों से धरती पर संचार उपकरण बरबाद हो जाते हैं. इसीलिए एक साल बाद नासा के वैज्ञानिक दोबारा दक्षिणी ध्रुव पहुंचे ताकि अपने रिसर्च के नतीजों को जान सकें.

 

First published: February 28, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp