दार्जिलिंग में नहीं हुई कोई हिसंक घटना, हाई अलर्ट पर सुरक्षा बल

भाषा
Updated: June 19, 2017, 1:01 PM IST
दार्जिलिंग में नहीं हुई कोई हिसंक घटना, हाई अलर्ट पर सुरक्षा बल
File Photo: PTI
भाषा
Updated: June 19, 2017, 1:01 PM IST
दार्जिलिंग में सोमवार सुबह साढ़े नौ बजे तक हिंसा की कोई घटना नहीं हुई लेकिन सुरक्षा बल हाई अलर्ट पर हैं और इंटरनेट सेवाएं निलंबित हैं. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि स्थिति अब भी तनावपूर्ण है. सुबह से हिंसा की कोई घटना नहीं हुई है लेकिन हम अत्यधिक सतर्कता बरत रहे हैं और किसी भी प्रकार की संभावित घटना के लिए तैयार हैं.

इंटरनेट सेवाएं निलंबित हैं और सुरक्षा बल पूर्ण बंद के पांचवें दिन सड़कों पर गश्त कर रहे हैं. इस बंद का आहवान गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) ने किया है. जीजेएम पृथक गोरखालैंड के लिए आंदोलन चला रहा है. दार्जिलिंग में इंटरनेट सेवाएं रविवार सुबह से निलंबित हैं. पुलिस सूत्रों ने बताया कि जीजेएम कार्यकर्ताओं को सोशल मीडिया पर संदेश और भड़काऊ पोस्ट फैलाने से रोकने के लिए यह कदम उठाया गया है.

कलिमपोंग में एक सार्वजनिक लाइब्रेरी, दो पंचायत कार्यालयों और एक पुलिस की गाड़ी को आग लगा दी गई. जीजेएम कार्यकर्ताओं ने पार्टी के दो समर्थकों के शवों के साथ प्रदर्शन किया. उनका आरोप है कि उनकी मौत 17 जून को पुलिस गोलीबारी में हुई है. पुलिस ने सरकार और जीटीए के कार्यालयों के बाहर और पहाड़ियों में आने और निकलने के विभिन्न स्थानों पर चौकियां और अवरोधक लगाए हैं.

दार्जिलिंग में दवाखानों को छोड़कर सभी अन्य दुकानें और होटल बंद हैं. केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने दो दिनों में दूसरी बार रविवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बातचीत की और प्रदर्शनकारियों से हिंसा का सहारा नहीं लेने और किसी मुद्दे के हल के लिए बातचीत की खातिर आगे आने की अपील की.

देश और दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.
First published: June 19, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर