अब लादेन के इस बेटे से सहमा अमेरिका, दुनिया के लिए बना नया खतरा

News18India

Updated: January 7, 2017, 11:15 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

नई दिल्ली। दुनिया को थर्राने वाले दुर्दांत आतंकी ओसामा बिन लादेन के बेटे हमजा बिन लादेन को अमेरिका ने अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित कर दिया है। अमेरिका के मुताबिक हमजा बिन लादेन आतंकी संगठन अल कायदा को फिर से खड़ा करने की कोशिश कर रहा है और वो दुनिया के लिए बड़ा खतरा बन चुका है। 2 मई 2011 के दिन पाकिस्तान के एबटाबाद में अमेरिकी नेवी के सील कमांडो ने दुनिया के मोस्ट वांटेड आतंकी ओसामा बिन लादेन को मार गिराया। इस ऑपरेशन में भले ही ओसामा बिन लादेन और उसका बेटा खालिद मार गिराया गया था, लेकिन उस रोज हुई एक छोटी सी चूक आज अमेरिका को भारी पड़ रही है और उस चूक का नाम है हमजा बिन लादेन। ओसामा बिन लादेन का छोटा लड़का हमजा लादेन खानदान के सफाए के बावजूद बच गया था क्योंकि ये उस वक्त अपने परिवार के साथ था ही नहीं।

हमजा बिन लादेन उस वक्त 15-16 साल का रहा होगा। यानी अब उसकी उम्र 20-21 साल होगी, लेकिन इतनी सी उम्र में लादेन का ये खून अमेरिका के लिए अपने पिता से ज्यादा खतरनाक बन चुका है। अमेरिका ने हमजा को ग्लोबल टेररिस्ट यानी दुनिया का खतरनाक आतंकी घोषित किया है। ग्लोबल टेररिस्ट उसे घोषित किया जाता है, जिससे आतंकी हमलों की साजिश रचने, उसे अंजाम देने का खतरा हो। अमेरिका के मुताबिक हमज़ा बिन लादेन से अमेरिकी जनता की सुरक्षा को खतरा है। अमेरिका की अर्थव्यवस्था को हमज़ा नुकसान पहुंचा सकता है।

लेकिन, खतरा सिर्फ अमेरिका को नहीं है, हिंदुस्तान के लिए भी हमजा बिन लादेन एक नया खतरा बनकर उभर रहा है क्योंकि हमजा बिन लादेन उसी अल कायदा का आतंकी बन चुका है, जिसे पाकिस्तान शह देता आया है। पाकिस्तान की ये फितरत रही है कि वो हिंदुस्तान के खिलाफ खड़े होने वाले हर आतंकी गुट का समर्थन करता है। इसलिए अल कायदा और हमजा का मजबूत होना भारत के लिए भी खतरे की बात है। फिलहाल अमेरिका ने हमजा बिन लादेन को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करके उस पर कई तरह की पाबंदियां लगा दी हैं।

आतंकी घोषित करने के बाद अब अमेरिका हर उस संपत्ति पर रोक लगा देगा, जिससे हमजा का कोई हित जुड़ा है। अमेरिकी नागरिक अब हमजा या उसके संगठन के साथ किसी तरह का लेन-देन नहीं कर पाएंगे। इसके अलावा अमेरिका ये भी कोशिश करेगा कि हमजा का सहयोग करने वाले दूसरे देशों पर भी शिकंजा कसा जाए। तो क्या अमेरिका पाकिस्तान पर भी शिकंजा कसेगा? ये एक ऐसा सवाल है जिस पर अभी पूरी दुनिया की नजरें टिकी हैं।

हमजा की उम्र 20-22 साल है, लेकिन वो जहर उगल रहा है, बोलने में बहुत तेज है, हेट स्पीच में माहिर है। माना जाता है कि 2 मई 2011 को हमजा बिन लादेन ईरान के किसी गुप्त ठिकाने पर रहकर आतंकी की ट्रेनिंग ले रहा था। लादेन अपने इस सबसे चहेते बेटे को अपने साथ नहीं रखना चाहता था। ओसामा को भरोसा था कि अगर उसे कुछ हो गया तो उसका बेटा हमजा ही आतंक की सल्तनत का वारिस बनेगा और हमजा बिल्कुल अपने बाप के नक्शे कदम पर चल रहा है।

2011 में ओसामा की मौत के बाद हमजा अल कायदा का सक्रिय प्रचारक बन गया था। 2015 में आतंकी अल जवाहिरी ने उसे अल कायदा का सदस्य घोषित किया था। इसके बाद 2015 में ही हमजा ने अमेरिका, फ्रांस और इजरायल में हमला करने की धमकी दी। उसने इन देशों में लोन वुल्फ के जरिए हमला करने की धमकी दी। 9 जुलाई 2016 को हमजा ने एक ऑडियो टेप जारी किया। जिसमें अमेरिका से बदला लेने की धमकी दी गई थी।

अपने ऑडियो टेप में हमजा बिन लादेन ने अमेरिका और उसके सहयोगी देशों के खिलाफ लड़ाई जारी रखने का वादा किया था। करीब 21 मिनट के इस ऑडियो टेप को 'वी आर ऑल ओसामा' नाम से रिलीज किया गया था। यही वजह है कि अमेरिका अब लादेन के इस रक्तबीज को पनपने से पहले ही कुचल देना चाहता है और इस कड़ी में फिलहाल अमेरिका ने पहला कदम ही बढ़ाया है।

First published: January 7, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp