कश्मीर दिवस से ठीक पहले पाकिस्तान सेना ने जारी किया भड़काऊ वीडियो

भाषा
Updated: February 5, 2017, 8:04 AM IST
कश्मीर दिवस से ठीक पहले पाकिस्तान सेना ने जारी किया भड़काऊ वीडियो
Still Grab
भाषा
Updated: February 5, 2017, 8:04 AM IST

पाकिस्तान का 'कश्मीर राग' खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. एक बार फिर पाकिस्तानी सेना ने ‘कश्मीर दिवस’ के कुछ घंटे पहले कश्मीर के लोगों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए शनिवार रात को एक वीडियो गीत जारी किया.

इस बार पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक सरताज अजीज ने जहां घाटी में हिंसक प्रदर्शनों को वहां के नौजवानों का आंदोलन करार दिया है, वहीं एक गीत में भारत से कश्मीर को छोड़ देने का संदेश दिया गया है. ‘कश्मीर दिवस’ देश में प्रतिवर्ष पांच फरवरी को मनाया जाता है.

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के सलाहकार सरताज अजीज ने दावा किया कि हिजबुल कमांडर बुरहान वानी को मार गिराना कश्मीर के लिए महत्वपूर्ण मोड़ है. उन्होंने घाटी में हिंसा को स्थानीय युवकों के नेतृत्व वाला आंदोलन बताया जो राज्य की जनसांख्यिकी को बदलने के लिए भारत के भटके हुए प्रयास के चलते पैदा हुआ है.

अजीज ने दावा किया कि भारतीय सुरक्षा बलों द्वारा आठ जुलाई को वानी को मार गिराने के बाद हुई हिंसा में कई मौतें हुईं और कई लोग या तो पूरी तरह से या आंशिक रूप से दृष्टिहीन हो गए.

गीत को सोशल मीडिया पर सेना की मीडिया विंग इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) ने जारी किया है. ‘संगबाज (पत्थर फेंकने वाले)’ नाम के इस गीत में भारत से कश्मीर को छोड़ देने का आग्रह किया गया है. वीडियो को देखकर ऐसा लगता है कि गीत को फिल्माने के लिए कश्मीर के वास्तविक दृश्यों का इस्तेमाल किया गया है.

गौकतलब है कि कश्मीर दिवस पर पाकिस्तान में राष्ट्रीय अवकाश रहता है. इस दिन रैलियां निकाली जाती हैं और कश्मीर की आजादी की मांग करते हुए मारे गए सैनिकों और लोगों को श्रद्धांजलि दी जाती है. कश्मरी दिवस का पहली बार आयोजन जमात-ए-इस्लामी संगठन ने 1990 में किया था.

First published: February 5, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर