पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र में फिर कश्मीर का रोना रोया

भाषा
Updated: March 2, 2017, 9:14 PM IST
पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र में फिर कश्मीर का रोना रोया
पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की बैठक में कश्मीर मुद्दा उठाते हुए भारत पर घाटी में मानवाधिकार के हनन का आरोप लगाया और अंतरराष्ट्रीय समुदाय से हालात का संज्ञान लेने का आग्रह किया.
भाषा
Updated: March 2, 2017, 9:14 PM IST

पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की बैठक में कश्मीर मुद्दा उठाते हुए भारत पर घाटी में मानवाधिकार के हनन का आरोप लगाया और अंतरराष्ट्रीय समुदाय से हालात का संज्ञान लेने का आग्रह किया.

जिनेवा में मानवाधिकार परिषद के 34वें सत्र को संबोधित करते हुए पाकिस्तान के विधि एवं न्याय मंत्री जाहिद हामिद ने कहा कि जम्मू-कश्मीर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्वीकार्य मुद्दा है जिसका संयुक्त राष्ट्र की निगरानी में स्वतंत्र और निष्पक्ष जनमत संग्रह के जरिए आखिरी समाधान होना है.

पाकिस्तानी विदेश विभाग ने बताया कि हामिद ने उस भारतीय दावे को खारिज कर दिया कि कश्मीर में हालात उसका आंतरिक मामला है. उन्होंने इस बात पर बल दिया कि शांति की बात तथ्यात्मक रूप से गलत, कानूनी रूप से निराधार और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का उल्लंघन है.

मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान कश्मीर के लोगों को अपना राजनीतिक, नैतिक और कूटनीतिक सहयोग प्रदान करना जारी रखेगा. हामिद ने कश्मीर में मानवाधिकार के हालात की आतंकवाद से तुलना करके अंतरराष्ट्रीय समुदाय का ध्यान भटकाने के कथित भारतीय प्रयासों को भी खारिज किया. उन्होंने मानवाधिकार परिषद और अंतरराष्ट्रीय समुदाय का आह्वान किया कि वे कश्मीर में हालात से अवगत बने रहें.

First published: March 2, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर