पनामागेट में नवाज शरीफ के खिलाफ ज़रूरी सुबूत नहीं, जांच JIT को

News18Hindi
Updated: April 20, 2017, 6:37 PM IST
पनामागेट में नवाज शरीफ के खिलाफ ज़रूरी सुबूत नहीं, जांच JIT को
Pakistan's supreme court would be give-decision on panama gate issue
News18Hindi
Updated: April 20, 2017, 6:37 PM IST
पनामा पेपर लीक मामले में पाकिस्‍तानी सुप्रीम कोर्ट ने आज अपने फैसला सुनाते हुए कहा कि शरीफ के खिलाफ पर्याप्‍त सबूत नहीं है और आगे की जांच के लिए शरीफ को जाॅइंट इन्‍वेस्‍टिगेशन टीम के सामने पेश होना होगा. डॉन न्‍यूज पेपर के मुताबिक शरीफ पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला ना तो उन्‍हें दोषी करार दिया और ना ही उन्‍हें क्‍लीन चिट दी.

पीएम पोस्‍ट से नहीं हटेंगे पाक
सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद नवाज शरीफ को फिलहाल पीएम पोस्ट से नहीं हटाया जाएगा. इधर कोर्ट के पांच जजों की बेंच में से तीन जजों ने मामले में आगे जांच की बात कही,  जबकि बाकी दो जजों का कहना था शरीफ को हटा दिया जाना चाहिए. बता दें कि शरीफ के खिलाफ यह केस तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के चीफ इमरान खान और कुछ दूसरे लोगों की पिटीशन पर चला.

पनामा पेपर: 2000 भारतीयों के नाम आ सकते हैं सामने

ये पनामा पेपर लीक का पूरा मामला
पनामागेट का मामला सीधे तौर पर पीएम शरीफ और उनके बेटे-बेटी से जुड़ा हुआ है. इसमें पनामा की लॉ कंपनी मोजैक फोनसेका से पेपर्स लीक की बात सामने आई है. इन पेपर्स में बताया गया है कि नवाज की उत्तराधिकारी मरियम नवाज और बच्चों ने विदेश में लाखों डॉलर की प्रॉपर्टी बनाई है. सुप्रीम कोर्ट ने मरियम के फाइनेंशियल सोर्सेज पर सवाल उठाया है. पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने 23 फरवरी को फैसला सुरक्षित रखा था. बता दें कि मुकदमा 1990 के दशक में शरीफ द्वारा लंदन में प्रॉपर्टी खरीदने का है. शरीफ उस वक्‍त दो बार प्रधानमंत्री रहे थे.
First published: April 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर