कुलभूषण जाधव पर पलटा पाकिस्तान, भारत से मांगी और जानकारी

भाषा
Updated: March 3, 2017, 7:28 PM IST
कुलभूषण जाधव पर पलटा पाकिस्तान, भारत से मांगी और जानकारी
पाकिस्तान ने कहा कि उसने पाकिस्तानी जेल में बंद कथित भारतीय जासूस कुलभूषण जाधव के बारे में भारत से और जानकारियां मांगी हैं.
भाषा
Updated: March 3, 2017, 7:28 PM IST
पाकिस्तान ने कहा कि उसने पाकिस्तानी जेल में बंद कथित भारतीय जासूस कुलभूषण जाधव के बारे में भारत से और जानकारियां मांगी हैं. विदेशी मामलों पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के सलाहकार सरताज अजीज ने सीनेट में प्रश्नोत्तर काल में कहा कि पिछले साल मार्च में गिरफ्तार कथित भारतीय जासूस के खिलाफ मुकदमा चलाने की तैयारियां की जा रही हैं. इससे पहले पाकिस्तान ने कहा था कि उसके पास जाधव को लेकर पुख्ता सबूत नहीं हैं.

उन्होंने यह साफ नहीं किया कि भारत को कब यह प्रश्नावली सौंपी गई. अजीज ने कहा कि कुलभूषण जाधव के बयानों को देखते ही भारत को सवालों की एक फेहरिस्त सौंपी गई है जिसमें उनसे जानकारी मांगी गई है. चर्चा तब शुरू हुई जब सीनेटर तलहा महमूद ने अजीज से पूछा कि क्या सरकार जाधव को उसी तरह भारत को सौंपने की योजना बना रही है, जिस तरह उसने सीआईए कांट्रैक्टर रेमंड डेविस का 2011 में प्रत्यर्पण किया था.

अजीज ने बयान को खारिज कर दिया और कहा कि सरकार कथित भारतीय जासूस को उसके देश में प्रत्यर्पित करने के किसी विकल्प पर विचार नहीं कर रही है. उन्होंने कहा कि हमने एक प्राथमिकी तैयार की है और पाकिस्तान में विध्वंसक और आतंकवादी गतिविधियों में संलिप्तता के सिलसिले में भारतीय के खिलाफ अभियोजन के लिए एक मामला पंजीकरण की प्रक्रिया में है.

अजीज ने दावा किया कि गिरफ्तार जासूस ने उग्रवादी गतिविधियों में संलिप्तता का अपराध कबूल किया है और उसके खिलाफ सबूतों की कमी का कोई सवाल पैदा नहीं होता. अजीज ने कहा कि पाकिस्तान ने देश आंतरिक मामलों में और विध्वंसक और आतंकवादी गतिविधियों में भारत की संलिप्तता पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव के साथ एक डोसियर साझा किया है. उन्होंने कहा कि इस डोसियर में कुलभूषण जाधव और उसकी गतिविधियों के बारे में ब्योरा शामिल है.

अजीज ने कहा कि शरीफ सरकार इस डोसियर को दूसरे देशों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के साथ साझा करने की संभावना पर भी विचार कर रही है. उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासचिव को सौंपे डोसियर के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि यह जबरदस्त जमीनी काम और विभिन्न विभागों के इनपुट पर आधारित है.

अजीज ने कहा कि यह बहुत अहम और संवेदनशील मुद्दा है और इसके लिए गहन तैयारियां और होमवर्क की जरूरत है क्योंकि यह पाकिस्तान में विध्वंसक और आतंकवादी गतिविधियों में भारतीय राज्य के तत्व की प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष भागीदारी से जुड़ा है. उन्होंने यह भी दावा किया कि आतंकवाद में भारत की कथित संलिप्तता पर दुनिया पाकिस्तान के रूख को स्वीकार कर रही है.

विपक्षी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के सीनेटर ऐतजाज अहसन ने जब पूछा कि प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कभी गिरफ्तार जासूस का नाम क्यों नहीं लिया तो विपक्ष ने सरकार की तीखी आलोचना की.

अहसन ने कहा कि मैंने ऐलान किया है कि अगर प्रधानमंत्री नवाज शरीफ अपने भाषण में भारतीय जासूस का नाम लेंगे तो मैं पाकिस्तान ऐसाएिशन ऑफ ब्लाइंड को 50 हजार रूपये का दान करूंगा. उन्होंने अजीज से पूछा कि शरीफ ने जाधव के बारे में क्या कभी चर्चा की है. बहरहाल, अजीज ने कहा कि प्रधानमंत्री नवाज शरीफ उचित समय पर जाधव के बारे में बोलेंगे.
First published: March 3, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर