कुलभूषण को मदद देने पर पाक की ना, यूएस समकक्ष से मिलेंगे डोभाल

News18Hindi
Updated: April 18, 2017, 11:12 AM IST
कुलभूषण को मदद देने पर पाक की ना, यूएस समकक्ष से मिलेंगे डोभाल
Image Source: News18
News18Hindi
Updated: April 18, 2017, 11:12 AM IST
भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव तक भारतीय राजनयिक पहुंच मुहैया कराने से पाकिस्तान ने एक बार फिर साफ़ इनकार कर दिया है. भारत ने ये मांग 15वीं बार की, लेकिन हर बार की तरह पाकिस्तान ने इससे साफ़ इनकार कर दिया है.

उधर, अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार लेफ्टिनेंट जनरल एचआर मैकमास्टर भी मंगलवार को भारत आ रहे हैं.  संभावना है कि दिल्ली में जाधव मुद्दे पर भारत में उनके समकक्ष डोभाल से बातचीत हो सकती है.

बेगुनाह कुलभूषण जाधव को छुड़ाना केंद्र सरकार की जिम्मेदारी: हाईकोर्ट

पाक सेना ने फिर ठुकराया प्रस्ताव

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने बताया कि कानून के तहत हम जासूसी में शामिल कुलभूषण जाधव तक भारत को राजनयिक पहुंच नहीं दे सकते.

हालांकि नई दिल्ली में भारतीय अधिकारियों ने कहा कि राजनयिक पहुंच से इंकार किए जाने को लेकर पाकिस्तान की तरफ से कोई आधिकारिक सूचना नहीं दी गई है.

पाकिस्तान ने भारत को अब तक नहीं दी कुलभूषण की सजा की कॉपी

उधर, पाकिस्तान ने स्पष्ट कर दिया है कि वो इस मसले पर झुकने के लिए तैयार नहीं है. भारत इस संबंध में पाकिस्तान से करीब 14 बार पहले भी मांग कर चुका है और ये 15वीं बार पाकिस्तान से ठुकराई गई है.

पाक का दावा- कुलभूषण के पास था मुस्लिम नाम वाला पासपोर्ट

जाधव को दी गई है फांसी
46 साल के जाधव को कथित जासूसी के मामले में फील्ड जनरल कोर्ट मार्शल ने पिछले सप्ताह मौत की सजा सुनाई थी. इसको लेकर भारत ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की और पाकिस्तान को चेतावनी दी कि अगर जाधव की 'पूर्वनियोजित हत्या' को अंजाम दिया गया जो द्विपक्षीय संबंधों को नुकसान पहुंच सकता है.

अमेरिकी एनएसए भी आ रहे हैं भारत
उधर, अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार लेफ्टिनेंट जनरल एचआर मैकमास्टर भी मंगलवार को भारत पहुंच रहे हैं. उन्होंने दो दिन पहले ही चुनिंदा आतंकी समूहों को निशाना बनाने पर पाकिस्तानी नेतृत्व की आलोचना की है.

कुलभूषण मामले से नाराज भारत ने पाकिस्तान से बंद की हर तरह की बातचीत

उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान को कूटनीति का इस्तेमाल करना चाहिए न कि छद्म रवैया अपनाना चाहिए जो अफगानिस्तान और अन्य स्थानों पर अपने हितों को जारी रखने के लिए हिंसा में शामिल है. गौरतलब है कि भारतीय एनएसए अजीत डोभाल जाधव के मुद्दे पर भी उनसे चर्चा कर सकते हैं.
First published: April 18, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर