अफगानिस्तान के आतंकवादी गुटों को अब भी पनाह दे रहा है पाक: पेंटागन

भाषा

Updated: December 17, 2016, 6:57 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

वॉशिंगटन। अमेरिका के रक्षा विभाग पेंटागन ने कहा है कि अफगानिस्तान से संचालित होन वाले बड़े आतंकी समूह अभी भी पाकिस्तान खुले रूप सक्रिय हैं। पेंटागन ने बताया है कि तालिबान और हक्कानी नेटवर्क जैसे समूहों ने पाकिस्तान में पनाह ले रखी है। जबकि, अमेरिका ने साफ लफ्जों में पाकिस्तान से आतंकवादी संगठनों के पनाहगाह खत्म करने को कहा था।

पेंटागन ने अमेरिकी संसद को दी गई अपनी अर्धवाषिर्क रिपोर्ट में कहा कि पाकिस्तानी सरजमीन के अंदर सरगर्मी चलाने की तालिबान और हक्कानी नेटवर्क समेत अफगानिस्तान केंद्रित आतंकवादी समूहों के वरिष्ठ नेतृत्व की आजादी बरकरार है। रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिका पाकिस्तान को लगातार बताता रहा है कि सुरक्षा माहौल को सुधारने सहित आतंकवादी और चरमपंथी समूहों को पनाहगाह से वंचित करने के लिए उसे कौन से कदम उठाने चाहिए।

अफगानिस्तान के आतंकवादी गुटों को अब भी पनाह दे रहा है पाक: पेंटागन
Photo - getty images

नवंबर 2016 तक की अपनी रिपोर्ट में पेंटागन ने कहा है कि तालिबान और हक्कानी नेटवर्क समेत अफगानिस्तान से चलने वाले आतंकवादी समूहों के वरिष्ठ नेतृत्व की पाकिस्तानी सरजमीन के अंदर पनाहगाह बरकरार है और समीक्षा काल के दौरान हक्कानी नेटवर्क के खतरों को दूर करने का कोई खास पाकिस्तानी प्रयास नहीं दिखता। तकरीबन 100 पन्नों की इस रिपोर्ट में पेंटागन ने कहा है कि अफगानिस्तान-पाकिस्तान सीमा से लगा क्षेत्र विभिन्न समूहों की पनाहगाह बना हुआ है।

रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि ये पनागाह और ये समूह दोनों देशों के लिए सुरक्षा चुनौती बने हैं और क्षेत्रीय स्थिरता और सुरक्षा के लिए खतरा पेश करते हैं। रिपोर्ट में रेखांकित किया गया है कि सामूहिक रूप से आतंकवादी और उग्रवादी समूह अफगान, अमेरिकी और सहयोगी देशों के बलों के लिए एक शक्तिशाली चुनौती पेश करना जारी रखे हैं। पेंटागन ने कहा कि अफगानिस्तान और पाकिस्तान में गतिविधियां चलाने वाले आतंकवादी और चरमपंथी संगठनों की संख्या बहुत ज्यादा है और उनमें से कई प्रतिबंधित किए गए संगठन दोनों देशों में सक्रिय हैं जिससे खतरे का एक जटिल वातावरण बनता है।

First published: December 17, 2016
facebook Twitter google skype whatsapp