सावधान! प्रदूषण हर साल ले रहा 17 लाख बच्चों की जान

भाषा

Updated: March 7, 2017, 10:36 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

संयुक्त राष्ट्र स्वास्थ्य एजेंसी और विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की दो नई रिपोर्ट्स में सामने आया है कि प्रदूषण के चलते हर साल दुनिया भर के करीब 17 लाख से ज्यादा बच्चों को अपनी जान गंवानी पड़ती है. रिपोर्ट के मुताबिक 17 लाख बच्चे प्रदूषण और उससे होने वाली बीमारियों की वजह से 5 साल की उम्र से पहले ही जान गंवा देते हैं.

संयुक्त राष्ट्र विश्व स्वास्थ्य संगठन की महानिदेशक मार्गरेट चान ने इन रिपोर्ट्स को जारी करते हुए कहा कि बढ़ता प्रदूषण 5 साल से काम उम्र के बच्चों के लिए बेहद घातक साबित हो रहा है. उन्होंने कहा कि इस उम्र तक बच्चों का इम्यून सिस्टम पूरी तरह से विकसित नहीं होता है जिसके चलते वे बीमारियों के संपर्क में भी जल्दी आते हैं और प्रदूषण इस स्थिति को और घातक बना देता है.

सावधान! प्रदूषण हर साल ले रहा 17 लाख बच्चों की जान
Image Source: PTI

इस रिपोर्ट के मुताबिक प्रदूषित हवा से बच्चों के मस्तिष्क का विकास रुक सकता है, इसके अलावा फेफड़ों और सांस से संबंधित बीमारियों का खतरा भी बना रहता है. लंबे समय तक प्रदूषित हवा में सांस लेने के कारण बच्चे को दिल की बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है और इससे कैंसर होने का खतरा भी बढ़ जाता है. प्रदूषित खाने की वजह से बच्चों में पेट से जुड़ी कई गंभीर बीमारियां देखने को मिलती हैं.

First published: March 7, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp