मुस्लिम देशों के वीजा पाबंदी आदेश में बदलाव कर सकते हैं ट्रंप

भाषा
Updated: February 17, 2017, 8:38 AM IST
मुस्लिम देशों के वीजा पाबंदी आदेश में बदलाव कर सकते हैं ट्रंप
राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रंप मुस्लिम बहुल देशों से अमेरिका आने पर पाबंदी वाले आदेश में बदलाव कर सकते हैं. जस्टिस डिपार्टपेंट के मुताबिक देश की सुरक्षा के लिए ट्रंप मुकदमे में ज्यादा समय बर्बाद नहीं करेंगे और वे इस मामले में जल्द ही कोई नया रास्ता खोजेंगे.
भाषा
Updated: February 17, 2017, 8:38 AM IST
राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रंप मुस्लिम बहुल देशों से अमेरिका आने पर पाबंदी वाले आदेश में बदलाव कर सकते हैं. जस्टिस डिपार्टपेंट के मुताबिक देश की सुरक्षा के लिए ट्रंप मुकदमे में ज्यादा समय बर्बाद नहीं करेंगे और वे इस मामले में जल्द ही कोई नया रास्ता खोजेंगे.

ट्रंप ने कहा, 'यात्रा प्रतिबंध पर लिया गया उनका निर्णय 'बहुत ही आसान' था, लेकिन प्रशासन को इस मामले में अदालत से खराब फैसला मिला.' उन्होंने कहा कि इस संबंध में उनका अगला आदेश कानूनी फैसलों के मुताबिक होगा.

जज ने लगा दी रोक
ट्रंप के सात मुस्लिम बहुल देशों के यात्रियों-प्रवासियों पर प्रतिबंध के आदेश पर शुक्रवार को सिऐटल के एक फेडरल जज जेम्स रोबाट ने रोक लगा दी . जज ने कहा था कि इस फैसले की ठीक से कानूनी समीक्षा की जाएगी.  फैसले के बाद ट्रंप प्रशासन ने इसे लागू करने की प्रक्रिया रोक दी है.

ट्रंप प्रशासन ने गुरुवार को इस फैसले के विरोध में कहा- तीनों जज इस निर्णय को गलत समझ रहे हैं, जबकि ऐसा नहीं है. सुरक्षा संबंधी फैसलों पर फैसला लेने का अधिकार अदालत के पास नहीं है, बावजूद इसे कोर्ट ने खारिज कर दिया था.

इन देशों पर लगी रोक
ट्रंप सत्ता में आते ही 27 जनवरी, 2017 को सात देशों, ईरान, इराक, लीबिया, सूडान, सोमालिया, सीरिया और यमन के नागरिकों के अमेरिका आने पर रोक लगा दी.  एक कार्यकारी आदेश के जरिये इन सात देशों के नागरिकों के अमेरिका में 90 दिनों के लिए प्रवेश पर अस्थाई प्रतिबंधित की घोषणा की गई थी, जबकि सीरिया के नागरिकों पर अनिश्चितकालीन प्रतिबंध था, बाकी देशों के शरणार्थियों के मामले में यह प्रतिबंध 120 दिनों का था.

अमेरिका सहित कई जगह विरोध
ट्रंप सरकार के इस फैसले का दुनियाभर में विरोध हो रहा है. अमेरिका के भी कई शहरों और हवाईअड्डों पर निर्णय के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं.
First published: February 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर