ट्रंप के नये ट्रैवल बैन आदेश में ग्रीनकार्ड धारक ही आ सकेंगे अमेरिका

News18Hindi
Updated: February 20, 2017, 10:22 AM IST
ट्रंप के नये ट्रैवल बैन आदेश में ग्रीनकार्ड धारक ही आ सकेंगे अमेरिका
ट्रंप के ट्रैवल बैन के नये आदेश अब केवल ग्रीन कार्डधारक निवासियों को ही अमेरिका आने की अनुमति दी जाएगी. आंतरिक सुरक्षा मामलों के मंत्री जॉन कैली के मुताबिक..
News18Hindi
Updated: February 20, 2017, 10:22 AM IST
ट्रंप के ट्रैवल बैन के नये आदेश के मुताबिक अब केवल ग्रीन कार्डधारक निवासियों को ही अमेरिका आने की अनुमति दी जाएगी. आंतरिक सुरक्षा मामलों के मंत्री जॉन कैली के मुताबिक नये आदेश में जो लोग अमेरिका आने की पहले ही योजना बना चुके वे लोग भी अमेरिका में एंट्री कर सकेंगे.  कैली के अनुसार, 'राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप आदेश को सख्त और ठीक से जारी करने पर विचार कर रहे हैं.

जॉन के मुताबिक मैंने इस योजना पर काम किया है, और अब नये आदेश में कोई भी बाहर से हमारे हवाई अड्डे में हमें चकमा देकर प्रवेश नहीं कर सकता.' केवल ग्रीन कार्डधारकों के ही देश में एंट्री की अनुमति के पर उन्होंने कहा, 'यह एक अच्छी योजना है. जहां तक वीजा का सवाल है, अगर वे यूएस आने के लिए तैयार हैं, तो उन्हें यहां आने की इजाजत दी जाएगी. उन्होंने कहा कि कम अवधि के दौरान ही यह तय किया जाएगा कि अगर कोई व्यक्ति विमान में हैं और यहां आना चाहते हैं, उन्हें देश में आने की इजाजत दी जाए.

ट्रंप के आदेश पर जज ने लगा दी थी रोक
ट्रंप के सात मुस्लिम बहुल देशों के यात्रियों-प्रवासियों पर प्रतिबंध के आदेश पर शुक्रवार को सिऐटल के एक फेडरल जज जेम्स रोबाट ने रोक लगा दी थी. जज ने कहा था कि इस फैसले की ठीक से कानूनी समीक्षा की जाएगी.  फैसले के बाद ट्रंप प्रशासन ने इसे लागू करने की प्रक्रिया रोक दी है.

ट्रंप प्रशासन ने गुरुवार को इस फैसले के विरोध में कहा था- तीनों जज इस निर्णय को गलत समझ रहे हैं, जबकि ऐसा नहीं है. सुरक्षा संबंधी फैसलों पर फैसला लेने का अधिकार अदालत के पास नहीं है, बावजूद इसे कोर्ट ने खारिज कर दिया था.

इन देशों पर लगी थी रोक
ट्रंप सत्ता में आते ही 27 जनवरी, 2017 को सात देशों, ईरान, इराक, लीबिया, सूडान, सोमालिया, सीरिया और यमन के नागरिकों के अमेरिका आने पर रोक लगा दी.  एक कार्यकारी आदेश के जरिये इन सात देशों के नागरिकों के अमेरिका में 90 दिनों के लिए प्रवेश पर अस्थाई प्रतिबंधित की घोषणा की गई थी, जबकि सीरिया के नागरिकों पर अनिश्चितकालीन प्रतिबंध था, बाकी देशों के शरणार्थियों के मामले में यह प्रतिबंध 120 दिनों का था.

अमेरिका सहित कई जगह विरोध
ट्रंप सरकार के इस फैसले का दुनियाभर में विरोध हो रहा है. अमेरिका के भी कई शहरों और हवाईअड्डों पर निर्णय के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं.
First published: February 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर