मिले इंसानी खून चूसने वाले वैम्पायर चमगादड़, रिसर्चर भी हैरान!

भाषा

Updated: January 12, 2017, 2:15 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

वशिंगटन। पहली बार इंसानों का खून चूसने वाले विशालकाय जंगली चमगादड़ (वैम्पायर बैट्स) पाए गए हैं, जिससे बीमारियों के फैलने की चिंता पैदा हो गई है। इससे पहले ऐसा माना जाता था कि इस प्रकार के चमगादड़ केवल पक्षियों का खून चूसते हैं।

रिसर्चरों ने उत्तर-पूर्वी ब्राजील के कतिंबु नेशनल पार्क में रहने वाले वैम्पायर चमगादड़ों डी एकाउडेटा के मल के 70 नमूनों का विश्लेषण किया। इस दौरान उन्होंने 15 नमूनों के डीएनए का पता लगाने में कामयाबी हासिल की, जिनमें से तीन में मनुष्यों के खून के बारे में पता चला। ब्राजील के फेडरल यूनिवर्सिटी ऑफ पेरनामबुको के एनरिको बर्नार्ड ने कहा कि हम हैरान हैं। यह प्रजाति इंसानों का खून चूसने के लिए अनुकूल नहीं थी। चमगादड़ रात में अमूमन बड़े पक्षियों को निशाना बनाते हैं और भोजन के रूप में एक पशु से लगभग एक चम्मच खून चूसते हैं।

मिले इंसानी खून चूसने वाले वैम्पायर चमगादड़, रिसर्चर भी हैरान!
पहली बार इंसानों का खून चूसने वाले विशालकाय जंगली चमगादड़ (वैम्पायर बैट्स) पाए गए हैं, जिससे बीमारियों के फैलने की चिंता पैदा हो गई है।

हालांकि मनुष्यों के अतिक्रमण के चलते संभवत: उन्होंने अपनी भोजन संबंधी जरूरतों को पूरा करने के लिए मनुष्यों के खून के उपयोग की क्षमता विकसित कर ली हो। गौरलतब है कि इस पार्क में अब कई परिवार रहते हैं। अनुसंधानकर्ताओं ने अधिकतर नमूनों में मुर्गे का खून पाया, जो आम तौर पर इलाके में फार्म में रखे जाते हैं।

 

First published: January 12, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp