दुनिया को मिल सकता है 8वां महाद्वीप, पृथ्वी पर मिली नई जगह!

भाषा

Updated: February 17, 2017, 11:18 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

पृथ्वी पर आज भी ऐसी जगहें मौजूद हैं जिनका भूगोल के नक्शे में कोई नाम नहीं लिखा गया है. लेकिन, दुनियाभर में खोज करने के लिए घूमने वाले लोग इन जगह के अस्तित्व के बारे में विश्व को बताते रहे हैं. प्रशांत महासागर यानि 'पैसेफिक ओशियन' के अंदर ‘जीलएंडिया’ नाम का एक बड़ा द्वीप है, जिसे महाद्वीप की मान्यता देने की कवायद तेज हो गई है.

शुक्रवार को जारी किए गए एक नए अध्ययन में ये कहा गया है कि पानी में डूबे इस विशाल द्वीप को महाद्वीप का दर्जा दिया जाना चाहिए. ये द्वीप लगभग भारतीय उप-महाद्वीप जितना ही बड़ा है और इसलिए इसे महाद्वीप बनाए जाने पर जोर दिया जा रहा है. इस समय इसका 94 प्रतिशत हिस्सा जलमग्न है.

दुनिया को मिल सकता है 8वां महाद्वीप, पृथ्वी पर मिली नई जगह!
प्रशांत महासागर यानि 'पैसेफिक ओशियन' के अंदर ‘जीलएंडिया’ नाम का एक बड़ा द्वीप है, जिसे महाद्वीप की मान्यता देने की कवायद तेज हो गई है.

रिसर्चरों ने कहा है कि दक्षिण पश्चिमी प्रशांत महासागर का 49 लाख किलोमीटर का क्षेत्र महाद्वीपीय परत से बना है. उनका कहना है कि ऑस्ट्रेलिया से इसके अलग होने और भरपूर भू-क्षेत्र होने के कारण इसे ‘जीलएंडिया’ का नाम दिया जाना चाहिए.

न्यूजीलैंड के विक्टोरिया यूनिवर्सिटी ऑफ वेलिंगटन और ऑस्ट्रेलिया के यूनिवर्सिटी ऑफ सिडनी के अनुसंधानकर्ता इस द्वीप के अध्ययन में लगे हैं. उन्होंने ने ही जीलएंडिया की पहचान भूगर्भीय महाद्वीप के रूप में की है

First published: February 17, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp