होम » फोटो » इतिहास
2/7
इतिहास Sep 27, 2016, 11:43 AM

सीने पर गोली खाना चाहते थे भगत सिंह, ये है उनकी जेल डायरी

शहीद-ए-आजम भगत सिंह सैनिकों जैसी शहादत चाहते थे। वह फांसी की बजाए सीने पर गोली खाकर वीरगति को प्राप्त होना चाहते थे। यह बात भगत सिंह द्वारा लिखे गए एक पत्र से मालूम हुई है। भगत सिंह के प्रपौत्र यादवेंद्र सिंह संधू ने आईबीएन खबर को बताया कि 20 मार्च 1931 को भगत सिंह ने पंजाब के तत्कालीन गवर्नर से मांग की थी कि उन्हें युद्धबंदी माना जाए और फांसी पर लटकाने की बजाए गोली से उड़ा दिया जाए। लेकिन ब्रिटिश हुकूमत ने उनकी यह बात नहीं मानी। भगत सिंह की एक अमानत फरीदाबाद में रहने वाले उनके प्रपौत्र यादवेंद्र सिंह संधू के पास सुरक्षित है। हम बात कर रहे हैं उनकी जेल डायरी की। यह डायरी उनके पूरे व्यक्तित्व को समझने के लिए काफी है। रिपोर्ट और फोटो: ओम प्रकाश