होम » फोटो » देश
2/5
देश Feb 18, 2017, 12:48 PM

वेद प्रकाश शर्मा: जब चंद घंटों में बुक स्टॉल से गायब हो गई थी 'वर्दी वाला गुंडा'

`वर्दी वाला गुंडा` उपन्यास से शोहरत की बुलंदी छू चुके वेद प्रकाश शर्मा का यूं चला जाना हर किसी को रुला गया. वैसे वो पिछले एक साल से बीमार थे, लेकिन शुक्रवार रात उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया. लुगदी साहित्य को लोकप्रियता के चरम तक पंहुचाने का का श्रेय वेद प्रकाश शर्मा को ही जाता है. साठ, सत्तर और अस्सी के दशक लुगदी साहित्य के लिहाज से स्वर्णिम काल माने जाते हैं. यही वह वक्त था जब ओम प्रकाश शर्मा, वेद प्रकाश कम्बोज, कुशवाहा कान्त, वेद प्रकाश शर्मा, सुरेन्द्र मोहन पाठक जैसे नए लेखकों की एक पूरी फौज ने लुगदी साहित्य के बाजार पर धावा बोला. (फोटो: विशी सिंहा, हिंदी फर्स्टपोस्ट डॉटकॉम)