राज्य

'जेल में बंद कैदियों से जेलर पैसे लेकर मोबाइल और नशीली वस्तुएं करवाते हैं उपलब्ध'

Premdan detha | ETV Rajasthan
Updated: June 20, 2017, 3:11 PM IST
'जेल में बंद कैदियों से जेलर पैसे लेकर मोबाइल और नशीली वस्तुएं करवाते हैं उपलब्ध'
फोटो-(ईटीवी)
Premdan detha | ETV Rajasthan
Updated: June 20, 2017, 3:11 PM IST
बाड़मेर जिला कारागाह में बंद एक कैदी के साथ सोमवार रात को जेलर और कुछ कैदियों ने मारपीट कर दी.

जानकारी के अनुसार जबर दान पुत्र केसू दान निवासी साता एसी एसटी केस समेत 3 मामलों में बाड़मेर कारागाह में बंद था. सोमवार देर रात उसका कुछ अन्य कैदियों के साथ झगड़ा हो गया, जिसके बाद कुछ कैदियों और जेल स्टाफ ने उसके साथ मारपीट कर दी. जिससे उसके शरीर पर कई गभीर चोटे आई हैं.

अपने साथ हुई मारपीट की घटना पर जहां पीड़ित ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए हैं वहीं दूसरी तरफ पीड़ित ने कारागृह में पैसे और मोबाइल के उपयोग के भी खुलासे किए हैं.

पीड़ित को मंगलवार को उसको विशिष्ट न्यायाधीश अनुसूचित जाति एवं जनजाति के सामने पेश किया गया. कोर्ट में पेश करते वक्त उसने मीडिया के सामने जेल प्रशासन पर कई आरोप लगाए हैं.

कैदी का कहना है कि जेल में बंद कैदियों से जेलर और अन्य स्टाफ हफ्ता वसूली करते हैं और पैसे लेकर मोबाइल और नशीली वस्तुएं उपलब्ध करवाते हैं. कैदी ने आरोप लगाते हुए कहा कि उसने जेल में हफ्ता वसूली का विरोध किया तो जेलर और अन्य स्टाफ ने मारपीट कर दी.

मजिस्ट्रेट सुरेंद्र खरे के सामने कैदी ने कपड़े उतार कर अपनी चोटें दिखाते हुए उसने जेल में चल रहे अनैतिक कार्यों के बारे में मजिस्ट्रेट को अवगत करवाया. जिस पर न्यायाधीश ने कैदी के मेडिकल के आदेश दे दिए.

वहीं जिस मामले में वह आरोपी था उसमें भी उसे बरी कर दिया है. पीड़ित के वकील के मुताबित उसके मुवक्किल के साथ कारागृह में मारपीट सरीखी घटना ने पुलिस की सुरक्षा पर सवाल खड़े करती है.
First published: June 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर