रेगिस्तान में गर्मी से बचने को एक परिवार ने पेड़ पर बनाया आशियाना

ETV Rajasthan
Updated: April 19, 2017, 7:56 AM IST
ETV Rajasthan
Updated: April 19, 2017, 7:56 AM IST
राजस्थान के रेतीले धोरों और लू के थपेड़ों से बचने के लिए एक परिवार ने पेड़ पर ही बसेरा बना लिया है. रेगिस्तानी जिले बाड़मेर के नींबासर गांव में एक ऐसा ही अनूठा मामला देखने को मिला है.

शिव उपखंड मुख्यालय के पास इस गांव के खामीशा खां ने धोरों के बीच ट्री-हाउस बनाया है. सुंदर बालकनी, बड़ी खिड़की और हटकर दिखने वाले इस घर को देखने लिए ग्रामीणाों का हुजूम उमड़ा रहता है.

अब रेत नहीं ढकेगी आंगन, गर्मी भी कम लगेगी

खामीशा ने अपने खेत में एक खेजड़ी के पेड़ पर लकड़ी का यह अनूठा ट्री हाउस बनाया है. वो कहते हैं कि इस रेगिस्तानी इलाके में लकड़ी के घर में न तो गर्मियों के दिनों में चलने वाली आंधियों की आंगन में रेत के ढेर लगेंगे और गर्मी भी कम लगेगी.

1.5 लाख में तैयार किया ट्री हाउस



खामीशा के अनुसार उनका ये एक दरवाजे और तीन खिड़कियों वाला घर चार लोगों के लिए पर्याप्त है. इसे बनाने में दीवारों और छत के लिए भी केवल प्लाइवुड का इस्तेमाल किया है और इस पर चढ़ने के लिए सीढ़ी भी लकड़ी की ही बनाई है. इस घर को बनाने में करीब डेढ़ लाख रुपए खर्च हुए हैं.

सोलर पावर से दूर होगी बिजली की कमी

12वीं क्लास तक पढ़े 30 वर्षीय खामीशा बताते हैं कि घर में गर्मी के दिनों में पंखे या कूलर की जरूरत महसूस नहीं हो रही है. इस घर में रोशनी के लिए सोलर पावर का इस्तेमाल करने वाले हैं.
First published: April 18, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर