राज्य

चूरूः रास्ते की मांग को लेकर रेलवे ट्रैक पर बैठे ग्रामीणों को देख प्रशासन के फूले हाथ-पैर

ETV Rajasthan
Updated: May 20, 2017, 3:28 PM IST
चूरूः रास्ते की मांग को लेकर रेलवे ट्रैक पर बैठे ग्रामीणों को देख प्रशासन के फूले हाथ-पैर
फोटो-(ईटीवी)
ETV Rajasthan
Updated: May 20, 2017, 3:28 PM IST
चूरू जिलामुख्यालय के निकटवर्ती गांव श्योपुरा में शनिवार को अंडरपास की मांग को लेकर ग्रामीण रेलवे ट्रैक पर उतर आए, जिसके बाद प्रशासन के हाथ-पैर फूल गए.

दरअसल, जैसे ही रेलवे कर्मचारी रास्ता बंद करने के लिए बेरिकेट्स लगाने पहुंचे वैसे ही ग्रामीणों का आक्रोश फूट गया और वे नारेबाजी कर रेलवे ट्रैक पर बैठ गए.

मौके पर पहुंचे जीआरपी और आरपीएफ के जवानों ने ग्रामीणों से समझाइश की, लेकिन तकरीबन दो घण्टे तक ग्रामीणों का रेलवे ट्रैक पर धरना प्रर्दशन जारी रहा, जिसके बाद ग्रामीणों ने पांच दिन का अल्टीमेटम देते हुए अपना धरना स्थगित किया.

दरअसल, गांव श्योपुरा के ग्रामीणों के खेत रेलवे ट्रैक के दूसरी तरफ है. साथ ही गांव बीनासर, छाजूसर, मेघसर इत्यादि गांवों का रास्ता भी रेलवे ट्रैक के ऊपर से होकर गुजरता है.

ग्रामीणों का कहना है कि वर्षों से इसी रास्ते का इस्तेमाल गांव वालों द्वारा किया जाता रहा है, लेकिन रेलवे अब इस रास्ते को बंद कर रही है. जबकि, रास्ते की मांग को लेकर जिला कलेक्टर, डीआरएम, रेलवे जीएम तक को ज्ञापन दिया जा चुका है.

पंचायत द्वारा भी इस रास्ते पर अंडर पास के लिए प्रस्ताव बनाकर भेजा जा चुका है, बावजूद इसके रेलवे द्वारा सुनवाई नहीं की जा रही है. शनिवार को रेलवे कर्मचारियों द्वारा बेरीकेट्स लगाकर रास्ता बंद किए जाने पर ग्रामीण आक्रोशित हो गए. ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि अगर उनकी अंडरपास की मांग नहीं मानी जाती है तो आगे उग्र आन्दोलन किया जाएगा.
First published: May 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर