राज्य

इलाहाबाद में 19 जुलाई से बंद हो जाएंगे पुराने डीजल वाहन!

Sarvesh Kumar Dubey | ETV UP/Uttarakhand
Updated: June 20, 2017, 1:26 PM IST
इलाहाबाद में 19 जुलाई से बंद हो जाएंगे पुराने डीजल वाहन!
संगम नगरी इलाहाबाद में डीजल के वाहनों से होने वाले प्रदूषण कम करने को लेकर लेकर संभागीय परिवहन प्राधिकरण की बैठक में कई अहम फैसले लिए गए हैं.
Sarvesh Kumar Dubey | ETV UP/Uttarakhand
Updated: June 20, 2017, 1:26 PM IST
संगम नगरी इलाहाबाद में डीजल के वाहनों से होने वाले प्रदूषण कम करने को लेकर लेकर संभागीय परिवहन प्राधिकरण की बैठक में कई अहम फैसले लिए गए हैं.

कमिश्नर डॉ आशीष गोयल की अध्यक्षता में हुई आरटीए की बैठक में शहर में पुराने डीजल वाहनों के बदले सीएनजी वाहन उतारे जाने को लेकर नयी कार्ययोजना तय कर दी गई है.

इसके साथ ही पुराने डीजल वाहनों को 20 जून से सड़क से हटाने के फैसले को भी फिलहाल स्थगित करते हुए वाहन स्वामियों को आखिरी मौका दिया गया है. कमिश्नर के मुताबिक 2008 से अब तक पंजीकृत और परमिट वाले 3148 छोटे वाहनों को तीन माह में चरणबद्ध तरीके से सड़कों से हटाया जायेगा और उसके बदले नए सीएनजी वाहन लाए जाएंगे.

उन्होंने कहा है कि शहर में खुले तीन सीएनजी पम्पों पर सीएनजी और सीएनजी वाहनों की उपलब्धता के आधार पर ही निर्णय लिए गए हैं. उनके मुताबिक AT और BT सीरीज वाले टैम्पो और आटो को 19 जुलाई तक सड़क पर चलने की अनुमति दी गई है. हालांकि इस बीच इस सीरीज के वाहन स्वामियों को 30 जून तक सीएनजी वाहन के लिए बुकिंग करानी अनिवार्य होगी.

वहीं CT और DT सीरीज के वाहनों को 19 अगस्त तक सड़कों पर चलने की मोहलत दी गई है और इनके वाहन स्वामियों के लिए 20 जुलाई तक सीएनजी वाहनों की बुकिंग कराना अनिवार्य होगा. जबकि ET और FT सीरीज के वाहन 19 सितम्बर तक सड़कों पर दौड़ सकेंगे. उन्हें भी 20 जुलाई तक सीएनजी वाहन के लिए बुकिंग करानी होगी. कमिश्नर के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के क्रम में सड़कों से यूरो थ्री के बदले यूरो फोर के वाहनों का चलन बढ़ाया जाना है.

इसी के मद्देनजर शहर के स्कूलों की लगभग 1200 बसों को भी सीएनजी कनवर्जन या नई बसें खरीदने के लिए आरटीए की बैठक में तीन माह का समय दिया गया है. जबकि शहर में दौड़ रही जेएनएनयूआरएम की खस्ताहाल बसों की जगह भी 250 सीएनजी बसों का प्रस्ताव भी शासन को भेजा जा रहा है.

कमिश्नर के मुताबिक सिटी बसें अनुबन्ध के आधार पर चलेंगी. सिटी बसें जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम और स्मार्ट कार्ड सुविधाओं से लैस होंगी. उन्होंने जनवरी 2019 में होने वाले अर्धकुम्भ से पहले सीएनजी सिटी बसों का संचालन शुरु होने की पूरी उम्मीद जतायी है.
First published: June 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर