राज्य

इसी कुर्सी पर बैठकर योगी ने तय किया सासंद से लेकर सीएम तक का सफर

News18Hindi
Updated: March 21, 2017, 2:09 PM IST
इसी कुर्सी पर बैठकर योगी ने तय किया सासंद से लेकर सीएम तक का सफर
यूपी के गोरखपुर से बीजेपी सासंद योगी आदित्यनाथ ने रविवार को यूपी के 21वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. उनके सीएम बनने के बाद गोरखनाथ मंदिर की कुर्सी खाली पड़ी है.
News18Hindi
Updated: March 21, 2017, 2:09 PM IST
यूपी के गोरखपुर से बीजेपी सासंद योगी आदित्यनाथ ने रविवार को यूपी के 21वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. उनके सीएम बनने के बाद गोरखनाथ मंदिर की कुर्सी खाली पड़ी है. जिस पर बैठकर योगी ने सासंद से लेकर सीएम तक का सफर तय किया.

यहीं वजह है कि उनके सीएम बनने के बाद से ये कुर्सी खाली पड़ी है. जहां योगी बैठकर अपने काम को निपटाते हुए जनता की फरियाद को सुनते थे. हर वक्त इस कुर्सी के आसपास सैंकड़ों लोगों का ताता लगा रहता था.

योगी के सीएम बनने के बाद उनके कार्यकर्ताओं ने कुर्सी पर माला चढ़ाकर उनकी स्वागत किया.सूत्रों की माने तो 25 मार्च तक योगी गोरखपुर जा सकते है. उनके गोरखपुर आने का कार्यक्रम पता चलते ही सुरक्षा के लिए बनाई गई योजना के तहत जिला प्रशासन अलर्ट है.बता दें, कि गोरखपुर में गोखनाथ मंदिर के महंत होने के नाते उनके हजारों समर्थक उनके स्वागत की तैयारी में नजरें बिछाए हुए है.

योगी का राजनैतिक सफर

1998 में उनके राजनीति गुरु महंत अवैद्यनाथ ने से संन्यास लिया और योगी आदित्यनाथ को अपना उत्तराधिकारी घोषित कर दिया. यहीं से योगी आदित्यनाथ की राजनीतिक पारी शुरू हुई. 1998 में गोरखपुर से 12वीं लोकसभा का चुनाव जीतकर योगी आदित्यनाथ संसद पहुंचे तो वह सबसे कम उम्र के सांसद थे, उस वक्त उनकी उम्र महज 26 साल की थी.

बता दें कि योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के 21वें मुख्यमंत्री के रूप में रविवार को लखनऊ के कांशीराम स्मारक स्थल पर राज्यपाल राम नाइक ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई.
.
First published: March 21, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर