मायावती बोलीं- कांग्रेस ने राजनीतिक स्वार्थ के लिए अपने उसूलों को ताक पर रख दिया

News18Hindi

Updated: February 17, 2017, 5:32 PM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

फतेहपुर में बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि 5 वर्षों में सपा सरकार ने कोई कम नहीं किया है. वहीं कांग्रेस पर भी तंज कसते हुए  उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने राजनीतिक स्वार्थ के लिए अपने उसूलों को ताक पर रख दिया. एफ़सीआई मैदान में मायावती जमकर सपा कांग्रेस और बीजेपी पर निशाना साधते हुई दिखी.

मायावती ने कहा कि सपा पर आराजकता और भ्रष्टाचार हावी है. उन्होंने कहा कि सपा सरकार ने बसपा की योजनायों का नाम बदलकर योजनाएं चलाई हैं. कई विकास कार्यों की शुरुआत तो बसपा के कार्यकाल में हुए थे. मुलायम को सवालों के कटघरे में लेट हुए उन्होंने कहा कि मुलायम ने पुत्र मोह के चलते शिवपाल को बदनाम किया है. सपा के दोनों खेमे में एक- दूसरे को हराने की कोशिश की जा रही है.

मायावती बोलीं- कांग्रेस ने राजनीतिक स्वार्थ के लिए अपने उसूलों को ताक पर रख दिया
फतेहपुर में बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि 5 वर्षों में सपा सरकार ने कोई कम नहीं किया है.वहीं कांग्रेस पर भी तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस ने राजनीतिक स्वार्थ के लिए अपने उसूलों को ताक पर रख दिया.

बीजेपी पर निशाना साधते हुए मायावती ने कहा कि कालाधन वापस लेने का केंद्र ने झूठ वादा किया था. किसी गरीब के खाते में एक भी रूपया जमा नहीं हुआ. बीजेपी के चुनावी वादे हवा हवाई साबित हो रहे है.

यूपी में सात चरणों में वोटिंग

उत्तर प्रदेश में 11 फरवरी से 8 मार्च के बीच सात चरणों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं. कांग्रेस, राष्ट्रीय लोक दल और समाजवादी पार्टी के अखिलेश धड़े के बीच गठबंध के बावजूद बहुकोणीय मुकाबला देखने को मिलेगा.

केंद्र में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने के बाद जिस तरह से बीजेपी को दिल्ली और बिहार में करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है, वैसे में उत्तर प्रदेश का चुनाव प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है.

मुख्यमंत्री चेहरे को सामने न लाकर एक बार फिर बीजेपी ने पीएम मोदी के चेहरे पर दांव खेला है. इसका कितना फायदा उसे इन चुनावों में मिलेगा वह 11 मार्च को सामने आ ही जाएगा.

First published: February 17, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp