राज्य

साबरमती एक्सप्रेस विस्फोट: सबूतों के अभाव में दो संदिग्ध आतंकी बरी

Deepak mishra | ETV UP/Uttarakhand
Updated: May 20, 2017, 5:21 PM IST
साबरमती एक्सप्रेस विस्फोट: सबूतों के अभाव में दो संदिग्ध आतंकी बरी
कोर्ट में पेशी के दौरान जाता आंतकी गुलजार अहमद बानी
Deepak mishra | ETV UP/Uttarakhand
Updated: May 20, 2017, 5:21 PM IST
यूपी के बाराबंकी की डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने शनिवार को साबरमती एक्सप्रेस ट्रेन बम विस्फोट कांड के मुख्य  संदिग्ध आतंकी गुलजार अहमद बानी और उसके साथी अब्दुल मुबीन को बरी कर दिया है. इस बम विस्फोट में नौ लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 40 लोग घायल हो गए थे.

इस मामले की सुनवाई करते हुए अपर जिला जज महमूद अजहर खां की कोर्ट ने कहा कि इस प्रकरण में अभियोजन की लापरवाही से आरोपी मुक्त हो रहे हैं. कोर्ट ने कहा कि सबूतों के अभाव में इन दोनों संदिग्ध आतंकियों को बरी कर दिया.

बता दें कि साबरमती एक्सप्रेस में 14 अगस्त 2000 को बम विस्फोट किया गया था. इस मामले के आरोपी अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) का पूर्व शोध छात्र गुलजार अहमद वानी पिछले 16 साल से जेल में बंद है.

वहीं, गुलजार को दिल्ली पुलिस ने जुलाई 2001 में नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार किया था. उन्हें दिल्ली के अलग-अलग इलाकों और यूपी के आगरा, कानपुर समेत विभिन्न शहरों में हुए 11 मामलों में आरोपी बनाया गया था. बाकी सभी मामलों में कोर्ट पहले ही उसे बरी कर चुका है.
First published: May 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर