राज्य

क्या सच में मुस्‍लिम विरोधी हैं यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ?

ओम प्रकाश | News18India.com
Updated: March 21, 2017, 12:34 PM IST
क्या सच में मुस्‍लिम विरोधी हैं यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ?
Image Source: News18
ओम प्रकाश | News18India.com
Updated: March 21, 2017, 12:34 PM IST
उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की छवि भले ही एक कट्टर हिन्दू नेता की है, लेकिन ऐसा बिल्‍कुल नहीं है कि वह मुस्‍लिमों का काम नहीं करवाते. उनके कुछ कार्यों के कायल मुस्‍लिम भी हैं.

वह मुख्‍यमंत्री बनने से पहले गोरखनाथ मंदिर के पीठाधीश्‍वर हैं. वह हिन्दू युवा वाहिनी के संस्थापक भी हैं, जिसे हिन्दू युवाओं का समूह बताया जाता है. गोरखनाथ मंदिर से सटे मुस्‍लिमों की बड़ी आबादी है. पास में ही इस्‍लामाबाद मोहल्‍ला है, जिसमें एक बड़ी मस्‍जिद है.

योगी को कभी नहीं थी ‘राजपाट’ की कामना, ऐसी है उनकी दिनचर्या

योगी को नजदीक से जानने वाले गोरखपुर के पत्रकार टीपी शाही कहते हैं कि योगी के विरोधी उनके खिलाफ दुष्‍प्रचार करके छवि खराब करने की कोशिश करते हैं, जबकि वह मुस्‍लिमों के पहुंचने पर उनका काम भी उतनी ही शिद्दत से करवाते हैं, जितना कि हिंदुओं का.



 यही वजह है कि गोरखपुर के काली मंदिर में 9 मार्च को एक मुस्‍लिम योगी को सीएम बनने की मन्‍नत मांगने के लिए पूजा की थी. यहां के कई मुस्‍लिम उन्‍हें सीएम बनाने की मांग कर चुके हैं. शाही बताते हैं कि कुछ साल पहले शहर के रसूलपुर मोहल्‍ले के एक मदरसे की कुछ जमीन दबंगों ने कब्‍जा ली थी.


फोटो: गोरखनाथ मंदिर से
फोटो: गोरखनाथ मंदिर से



मदरसे से जुड़े लोग जब कब्‍जा नहीं हटवा सके तो परेशान होकर योगी के पास मंदिर में आए. उन्‍होंने एसएसपी को फोन करके कहा कि एक घंटे के अंदर मदरसे का कब्‍जा नहीं हटेगा तो तुम जानोगे. इसके बाद गोरखपुर प्रशासन ने आनन-फानन में कब्‍जा हटवा दिया.



पुराना गोरखनाथ मोहल्‍ला निवासी जुनैद अहमद यहां अक्‍सर मुस्‍लिमों की समस्‍या का समाधान करवाने आते हैं. वह सोमवार को भी मंदिर पहुंचे थे. जुनैद के मुताबिक साल 2014 में कुछ लोगों ने यहां की बड़ी जामा मस्‍जिद के पास रास्‍ता रोक दिया था.

123

जब यहां के परेशान अंसारियों ने विरोध करना शुरू किया तो उन पर पुलिस ने बल प्रयोग किया. सत्‍ता खिलाफ थी क्‍योंकि जिसने रास्‍ता रोका था वह पहुंच वाला था. इसके बाद पीड़ितों ने योगी से मदद मांगी. योगी खुद मौके पर पहुंचे और खड़े होकर रास्‍ता खुलवाया.

उन्‍होंने बताया कि मुस्‍लिम महिलाओं को प्रताड़ित करने वाले कई लोगों पर कार्रवाई करवाकर योगी ने उनकी मदद की है. हालांकि, जब मुस्‍लिमों को लेकर कोई उनके बयान सुनता है तो उसे फिर योगी उसे समझ नहीं आते.







इसे भी पढ़ें:

योगी की कट्टरता से ज्‍यादा उनकी इन खूबियों के कायल हैं दलित
First published: March 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर