योगी की रजा: यूपी कैबिनेट में आखिर क्‍यों शामिल हुए मोहसिन...

News18Hindi

Updated: March 20, 2017, 8:12 AM IST
facebook Twitter google skype whatsapp

आदित्यनाथ योगी ने यूपी के 21वें मुख्यमंत्री का पद संभाल लिया है. उन्होंने अपने कैबिनेट में एक मात्र मुस्लिम चेहरे को शामिल किया है, वो हैं मोहसिन रजा. उन्होंने राज्य मंत्री के तौर पर शपथ ली. मोहसिन रजा के बारे में ये भी पता है लोगों को कि ये एक क्रिकेटर भी हैं.

कैबिनेट में एकमात्र मुस्लिम चेहरा मोहसिन रजा रणजी ट्राफी क्रिकेट मैच खेल चुके हैं। भाजपा ने इस बार के विधानसभा चुनाव में एक भी मुसलमान को उम्मीदवार नहीं बनाया था। रजा को कैबिनेट में शामिल कर योगी ने यूपी की मुस्लिम आबादी को आश्वस्त करने का प्रयास किया है कि उनकी भी भागीदारी और प्रमुखता को सरकार ध्यान देगी. मोहसिन अभी विधानमंडल के किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं. उन्हें छह महीने के अंदर किसी न किसी सदन के माध्यम से विधानमंडल में शामिल होना होगा.

योगी की रजा: यूपी कैबिनेट में आखिर क्‍यों शामिल हुए मोहसिन...
आदित्यनाथ योगी ने यूपी के 21वें मुख्यमंत्री का पद संभाल लिया है. उन्होंने अपने कैबिनेट में एक मात्र मुस्लिम चेहरे को शामिल किया है, वो हैं मोहसिन रजा. उन्होंने राज्य मंत्री के तौर पर शपथ ली. मोहसिन रजा के बारे में ये भी पता है लोगों को कि ये एक क्रिकेटर भी हैं.

मोहसिन रजा को योगी कैबिनेट में शामिल किये जाने पर सपा नेता आजम खां ने कहा, ये बीजेपी के तुष्टिकरण की शुरुआत है. अभी तो बहुत कुछ होना बाकी है.

आइए जानें कौन हैं मोहसिन रजा?

मोहसिन रजा मूल रूप से लखनऊ के रहने वाले हैं. मोहसिन 2013 में बीजेपी में शामिल हुए. अभी वह उत्तर प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता हैं और टीवी पर भाजपा का जाना माना चेहरा कहे जाते हैं. रजा अभी किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं. नियम के मुताबिक 6 महीने के अंदर उन्हें विधानसभा के किसी एक सदन का सदस्य बनना होगा.

मोहसिन लखनऊ के ही गवर्नमेंट जुबली इंटर कॉलेज से पढ़ाई की है. इसके अलावा रजा उत्तर प्रदेश की ओर से कई रणजी मैच भी खेल चुके हैं. मोहसिन योगी सरकार में दूसरे ऐसे मंत्री हैं जो क्रिकेटर रह चुके हैं। इनके अलावा पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान को भी कैबिनेट मंत्री बनाया गया है।

मोहसिन के भाई अर्शी रजा स्थानीय कांग्रेस नेता हैं, हालांकि मोहसिन का कहना है कि वे दोनों एक दूसरे के लिए ‘मरने को भी तैयार’ रहते हैं और घर पर राजनीति के बारे में बात नहीं करते. मोहसिन रजा सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के बहुत मुखर आलोचक रहे हैं. रजा ने कई सार्वजनिक मंच पर मुलायम पर मुसलमानों का अपने राजनीतिक फायदे के लिए इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है.

मोहसिन ने मणिपुर गवर्नर नज्मा हेपतुल्ला के परिवार की बेटी फोजिया सारवात फातिमा से निकाह किया. रजा एमआरएफ फाउंडेशन चेन्नई से भी जुड़े रहे. उन्होंने एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में भी अपना भाग्य आजमाया. वह 1995 में प्रिंस लखनउ भी चुने गए. उन्होंने दूरदर्शन के प्रसिद्ध धारावाहिक नीम का पेड़ में काम भी किया.

रजा खुद उन्नाव के एक जमींदार परिवार से आते हैं जोकि कांग्रेस के ज्यादा करीब माने जाते हैं. 1999 में खुद रजा भी कांंग्रेस स्पोर्ट्स सेल के अध्यक्ष भी बनाए गए थे. लेकिन उन्हें कांग्रेस में मजा नहीं आया. उन्होंने कांग्रेस को छोड़कर लोकसभा चुनाव 2014 से पूर्व भाजपा को ज्वाइन कर लिया. बहुत जल्द उन्होंने राजनाथ सिंह और उनके बेटे पंकज सिंह को प्रभावित किया और पिछले साल बीजेपी के प्रवक्ता बन गए.

First published: March 20, 2017
facebook Twitter google skype whatsapp