राज्य

यूपी एटीएस ने खोला फर्जी रीचार्ज का धंधा, 50 हजार से ज्यादा सिमकार्ड के साथ 7 गिरफ्तार

News18Hindi
Updated: April 20, 2017, 12:21 PM IST
यूपी एटीएस ने खोला फर्जी रीचार्ज का धंधा, 50 हजार से ज्यादा सिमकार्ड के साथ 7 गिरफ्तार
सीतापुर और हरदोई में गिरफ्तार किए गए फर्जी रीचार्ज का धंधा चलाने वाले. Image: News 18 Hindi
News18Hindi
Updated: April 20, 2017, 12:21 PM IST
यूपी एटीएस ने सीतापुर और हरदोई में तीन जगहों पर छापा मारकर फर्जी तरीके से नेट से रीचार्ज कराने के अवैध धंधे का खुलासा किया है. मामले में एटीएस ने सात अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है, जिनके पास से भारी मात्रा में अवैध सिमकार्ड बरामद किए गए हैं.

यह भी पढ़ें: बड़े आतंकी नेटवर्क का खुलासा करेगी यूपी एटीएस, 3 गिरफ्तार

एटीएस के अनुसार ये लोग विभिन्न टेलीकॉम कम्पनी से अवैध रूप से सिम कॉर्ड लेकर उसे फर्जी नाम पते से एक्टिवेट कर देते थे. इसके बाद उसमें पेटीएम, आईडिया मनी आदि ऐसे एप्लिकेशन जिनको डाउनलोड करने पर कुछ पैसा एडवांन्स प्रमोशन के रूप मे आता है, को डाउनलोड करते है. इन्हें सिम में डाल कर कमाई करते हैं.

सीतापुर के थाना कोतवाली, थाना संदना और हरदोई के थाना बघौली में हुई इस कार्रवाई में सीतापुर से 5 अभियुक्त विकास जायसवाल, रोहित कुमार, सुजीत कुमार, पंकज कुमार और अमित कुमार को गिरफ्तार किया. इनके पास से 15,444 सिमकार्ड, 5 लैपटॉप और 37 मोबाइल फोन बरामद हुए हैं.

यह भी पढ़ें: कश्मीरी आतंकियों के निशाने पर मोदी और योगी, लंदन में रची गई साजिश

इसके अलावा थाना संदना से एक अभियुक्त अरुण सिंह को 32,093 सिम कार्ड के साथ गिरफ्तार किया गया. उसके पास से भी 37 मोबाइल फोन, एक लैपटॉप, सैकड़ों की संख्या में फार्म आईडी और फोटो बरामद किए हैं.

वहीं हरदोई थाना बघोली से एक अभियुक्त सुशील कुमार सिंह को गिरफ्तार किया गया, जिसके पास से 930 सिमकार्ड, 3 लैपटॉप, एक कंप्यूटर, 209 सीएएफ भरे हुए फर्जी डॉक्यूमेंट, 21 मोबाइल और 13 GPRS मॉडेम बल्क रिचार्ज एसएमएस के लिए और 48 फर्जी मोहरे बरामद हुए हैं.

एटीएस के अनुसार इस गोरखधंधे में टेलीकॉम कम्पनी/डिस्ट्रीब्यूटर के भी शामिल होने कि सम्भावना है. जांच की जा रही है.
First published: April 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर