राज्य

उत्तराखंड: एक महीने बाद भी शुरू नहीं हो सकीं तीन बड़ी बिजली परियोजनाएं

satendra bartwal | ETV UP/Uttarakhand
Updated: April 20, 2017, 1:27 PM IST
उत्तराखंड: एक महीने बाद भी शुरू नहीं हो सकीं तीन बड़ी बिजली परियोजनाएं
पिछले एक माह से बंद पड़ी तीन जलविद्युत परियोजनाएं एक माह के इंतजार के बाद आज भी शुरू नहीं हो सकी हैं. 20 अप्रैल से शुरू होनी थी तीनों परियोजनाएं.
satendra bartwal | ETV UP/Uttarakhand
Updated: April 20, 2017, 1:27 PM IST
पिछले एक माह से बंद पड़ी तीन जलविद्युत परियोजनाएं एक माह के इंतजार के बाद आज भी शुरू नहीं हो सकी हैं. 20 अप्रैल से शुरू होनी थी तीनों परियोजनाएं.

उम्मीद की जा रही थी कि उत्तराखंड में हो रही बिजली की किल्लत से आज निजात मिल जाएगी. लेकिन ऐसा हो न सका. तीनों बड़ी परियोजनाएं चालू न की जा सकी. इन तीनों परियोजनाओ से प्रदेश को अब करीब 155 मेगा यूनिट बिजली मिलने की उम्मीद है.

उत्तराखण्ड में लगातार हो रही बिजली की किल्लत को दूर करने के लिए जलविद्युत निगम प्रदेश की परियोजनाओं का मरम्मत कार्य करा रहा है. ताकि बिजली की किल्लत को कम किया जा सके.

दरअसल केंद की ड्रिप योजना के तहत उत्तराखण्ड को विश्व बैंक से जलविद्युत परियोजनाओं की मरम्मत के लिए करीब 194 करोड़ रूपये मिले हैं. जिसमें से जलविद्युत निगम ने करीब 45 करोड़ की लागत से तीन परियोजना ढकरानी, ढालीपुर और कुल्हाल के साथ 22 किमी की शक्ति नहर पर मरम्मत कार्य चल रहा है.

मरम्मत कार्य का निर्धारित समय 20 अप्रैल तक पूरा हो गया है. इसके बावजूद अभी काम बाकी है. वहीं परियोजना के उपमहानिदेशक का कहना है कि अगर समय रहते इन परियोजनाओं का मरम्मत का कार्य नहीं किया जाता तो निगम को बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता था.
First published: April 20, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर