VIDEO : पैंतीस साल में 10 हजार से ज्‍यादा सांपों को बचा चुका है यह परिवार

Govind Patni | ETV UP/Uttarakhand
Updated: May 19, 2017, 8:42 AM IST
Govind Patni | ETV UP/Uttarakhand
Updated: May 19, 2017, 8:42 AM IST
उत्‍तराखंड के नैनीताल जिले के रामनगर में एक ऐसा परिवार है, जो बीते पैंतीस साल से सांपों के संरक्षण में लगा हुआ है. यह परिवार अब तक 10 हजार से अधिक सांपों को बचा चुका है.

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क और उसके आसपास का क्षेत्र दुर्लभ वन्य जीवों से भरा हुआ है. इनमें कई दुर्लभ प्रजाति के सांप भी शामिल हैं, लेकिन सांपों के प्रति जनता में अधिकांशत: नफरत का भाव देखा जाता रहा है. इसी नफरत के चलते लोग इन्हें देखते ही मारने का प्रयास करते हैं, परंतु रामनगर में रहने वाले चंद्रसेन कश्‍यप का परिवार पैंतीस साल से सांपों को बचाने में लगा हुआ है.

चंद्रसेन कश्यप पेशे से पत्रकार हैं, लेकिन सांपों के प्रति इनमें ऐसा जुनून है कि वे इन्‍हें बचाने के लिए हमेशा प्रयासरत रहते हैं. इस काम में इनका पूरा परिवार साथ दे रहा है. इनके तीनों बेटे भी सांप पकड़ने की कला मे दक्ष हैं. यह परिवार रामनगर में सांपों के प्रति लोगों में जागरूकता भी फैला रहा है, ताकि सांपों का संरक्षण हो सके.

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क के वार्डन शिवराज चंद बताते हैं कि वन महकमा भी घरों में सांप घुस जाने पर चंद्रसेन कश्यप की ही मदद लेता है. इसके अलावा सांपों के प्रति जनजागरूकता में भी इनकी बढ़-चढ़कर भागीदारी रहती है. विभाग ने सांप रखने के लिए भी इन्हें कुछ बक्से दिए हुए हैं, जिससे कि उन्हें सुरक्षित ढंग से रखा जा सके. सांपों को बाद में सुरक्षित जंगल में छोड़ दिया जाता है.

सांपों के प्रति चंद्रसेन कश्यप के इस जुनून के चलते क्षेत्र के लोगों में जागरूकता का संचार भी हुआ है. लोग सांप को देखते ही इन्हें फोन कर बुला लेते हैं. कश्‍यप के प्रयासों का ही असर है कि क्षेत्र में सांपों की मौत में कमी देखी जा रही है. लोग नि:स्वार्थ भाव से किए जा रहे इनके प्रयास और जज्बे की सरहना करते हैं.
First published: May 19, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर