होम » वीडियो

वुमन रेसलर ने बताया- किस मजबूरी में उन्हें करना पड़ता था लड़कों से दंगल?

अन्य खेल05:37 PM IST Mar 24, 2017

अंबाला. कहते हैं जिद और जूनून से कुछ भी संभव हो सकता है. कुछ ऐसा ही देखने को मिला भारत केसरी दंगल-2017 में. लंगोट बेचकर गुजारा करने वाले सूरज काकरान की बेटी दिव्या ने बड़े-बड़े सूरमा महिला रेसलर्स को रिंग में धूल चटाकर भारत केसरी बनने का गौरव हासिल किया. दिव्या को इनाम के रूप में 10 लाख रुपए मिलेंगे. news18hindi.com के संवाददाता नित्यानंद पाठक को दिए इंटरव्यू में दिव्या ने बताया कि आखिर क्यों वो लड़कों को चैलेंज कर दंगल लड़ती थीं.

नित्यानंद पाठक

अंबाला. कहते हैं जिद और जूनून से कुछ भी संभव हो सकता है. कुछ ऐसा ही देखने को मिला भारत केसरी दंगल-2017 में. लंगोट बेचकर गुजारा करने वाले सूरज काकरान की बेटी दिव्या ने बड़े-बड़े सूरमा महिला रेसलर्स को रिंग में धूल चटाकर भारत केसरी बनने का गौरव हासिल किया. दिव्या को इनाम के रूप में 10 लाख रुपए मिलेंगे. news18hindi.com के संवाददाता नित्यानंद पाठक को दिए इंटरव्यू में दिव्या ने बताया कि आखिर क्यों वो लड़कों को चैलेंज कर दंगल लड़ती थीं.

Latest Live TV