Home / News / auto /

Volkswagen को पछाड़ ये बनी दुनिया की नंबर वन कार निर्माता कंपनी, आप भी चलाते हैं इसकी गाड़ियां

Volkswagen को पछाड़ ये बनी दुनिया की नंबर वन कार निर्माता कंपनी, आप भी चलाते हैं इसकी गाड़ियां

ऑटोमेकर के उत्पादन में लगभग 47,000 वाहनों की कमी आएगी.

ऑटोमेकर के उत्पादन में लगभग 47,000 वाहनों की कमी आएगी.

हाल ही में जारी हुए बिक्री के आंकड़ों ने जापानी वाहन निर्माता को अपने प्रतिद्वंद्वी फोक्सवैगन (Volkswagen) से आगे कर दिया है. टोयोटा ने बताया कि उसने 2021 में 10.5 मिलियन वाहन बेचे, जिसमें उसके सहयोगी Daihatsu Motors और Hino Motors शामिल हैं.

नई दिल्ली. टोयोटा मोटर (Toyota Motor) लगातार दूसरी बार दुनिया की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी बन गई है. कंपनी ने पिछली साल अपने सेल में 10.1 प्रतिशत की वृद्धि की. हाल ही में जारी हुए बिक्री के आंकड़ों ने जापानी वाहन निर्माता को अपने प्रतिद्वंद्वी फोक्सवैगन (Volkswagen) से आगे कर दिया है. टोयोटा ने बताया कि उसने 2021 में 10.5 मिलियन वाहन बेचे, जिसमें उसके सहयोगी Daihatsu Motors और Hino Motors शामिल हैं.

फोक्सवैगन ने टोयोटा की तुलना में 8.9 मिलियन व्हीकल बेचे हैं. यह कंपनी के दस साल बाद सबसे कम बिक्री है. यह 2020 में हुई बिक्री से भी 5 प्रतिशत कम है. जहां महामारी और सेमीकंडक्टर की कमी मोटर वाहन उद्योग को परेशान कर रही है, फोक्सवैगन ने कहा कि चिप संकट की स्थिति इस साल की पहली छमाही में अस्थिर रहेगी.

ये भी पढ़ें- अब यूरोप में भी धमाल मचाएगी ये इंडियन टू-व्हीलर कंपनी, स्विट्जरलैंड की सबसे बड़ी e-बाइक फर्म को खरीदा


इस साल कम हो सकती है बिक्री
टोयोटा की 2021 की बिक्री कंपनी को सकारात्मक शुरुआत देती है, लेकिन ऐसा लगता है कि चालू वर्ष में गति को जारी रखना मुश्किल हो सकता है. पहले की एक रिपोर्ट में कंपनी की एक घोषणा में कहा गया था कि ऑटोवर्कर्स के बीच बढ़ते कोविड -19 मामलों के कारण वह इस महीने जापान में वाहन उत्पादन को और रोक देगी. यह वाहन निर्माता के लिए एक बड़ा झटका है, क्योंकि वैश्विक चिप संकट अभी खत्म नहीं हुआ है. कंपनी के एक प्रवक्ता ने बताया था कि ब्रेक इस महीने प्लांड प्रोडक्शन में 65,000 वाहनों की कटौती करेगा, जो पहले की घोषणा से 18,000 अधिक है.

ये भी पढ़ें- Bike और Scooter की सर्विस के लिए नहीं है टाइम! तो इन्हें ठीक रखने के लिए ये करें, जानें सबकुछ

इस बार नहीं होगा टारगेट पूरा
दुनिया भर में कार कंपनियां अभी सेमीकंडक्टर की कमी और सप्लाय चैन में एक बड़ी बाधा के कारण महामारी के कारण उत्पादन में कटौती करने के लिए मजबूर किया गया है. हालांकि, टोयोटा ने कहा था कि फरवरी में हुए उत्पादन के नुकसान की भरपाई के प्रयास किए जा रहे हैं. ऑटोमेकर ने पिछले हफ्ते यह भी कहा था कि 90 लाख वाहनों का उत्पादन करने का उसका वार्षिक लक्ष्य असंभव रह सकता है, क्योंकि उसके पास पर्याप्त चिप्स नहीं हैं.

Tags:Auto News, Car Bike News, Toyota Motors, Volkswagen Polo