Home / News / bihar /

10 crore rupees scam with self help group ladies at gopalganj

स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के साथ 10 करोड़ रुपए का घोटाला, ऐसे सामने आया फर्जीवाड़ा

बिहार के गोपालगंज में हुए फर्जीवाड़े के बाद थाने पहुंचे लोग

बिहार के गोपालगंज में हुए फर्जीवाड़े के बाद थाने पहुंचे लोग

Gopalganj Banking Fraud: बिहार के गोपालगंज जिले में हुए इस फर्जीवाड़े के मामले में 9 लोगों के खिलाफ केस हुआ है. इस मामले में पुलिस ने एक शख्स को गिरफ्तार किया है जिसने 250 से 300 महिला सदस्यों का समूह बनाया था. महिलाओं के नाम से एक लाख से तीन लाख रुपये तक के लोन की निकासी खाते से की गई है.

गोपालगंज. बिहार के गोपालगंज जिला में स्वयं सहायता समूह की 300 महिलाओं से करीब 10 करोड़ रुपये का फर्जीवाड़ा और घोटाला किये जाने का मामला सामने आया है. महिलाओं की शिकायत पर विजयीपुर थाने में पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज करने के बाद घोटाले के मुख्य आरोपी मिथिलेश पांडेय को गिरफ्तार किया है. बताया जाता है कि विजयीपुर थाना क्षेत्र के विजयीपुर गांव की रहने वाली 300 महिलाओं का एक समूह है जिनमें अधिकांश अनपढ़ महिलाएं हैं. इनके नाम पर समूह का पैसा उनके खाते में मंगवाया गया. महिलाओं के घर जाकर बैलेंस चेक करने के नाम पर स्वैप मशीन एवं अंगूठा का निशान लेकर सभी के खाते से पैसा का निकासी कर ली गयी है.

महिलाओं का खाता फ्यूजन बैंक भटनी, भारत बैंक, शाखा भटनी, पहल बैंक, भटनी, उत्कर्ष, शाखा भोरे सहित अन्य बैंकों में है. महिलाओं के नाम से एक लाख से तीन लाख रुपये तक का लोन का निकासी खाते से की गई है जिसमें अधिकांश महिलाओं का पासबुक भी अपने पास रख लिया गया है. इसके कारण यह पता नहीं चल सका है कि कितना लोन पास हुआ है और कितने की निकासी हुई है. हथुआ एसडीपीओ नरेश कुमार ने इस पूरे मामले में जांच कर कार्रवाई करने की बात कही है.


ऐसे हुआ खुलासा

आपके शहर से (गोपालगंज)

ग्रेजुएट चायवाली के स्‍टॉल को पटना नगर निगम ने हटाया, प्रियंका ने लालू यादव से लगाई गुहार तो वापस मिला ठेला

Patna High Court Steno Result 2022 Declared: पटना हाई कोर्ट ने जारी किया स्टेनो का रिजल्ट, ऐसे करें चेक

प्रोटोकॉल के खिलाफ: तेज प्रताप यादव की दोनों दिन की विभागीय मीटिंग में बैठे नजर आए उनके बहनोई

BCECEB Sarkari Naukri: BCECEB में इन पदों पर निकली बंपर वैकेंसी, आज से आवेदन शुरू, मिलेगी अच्छी सैलरी 

सृजन घोटाला: पूर्व IAS केपी रमैया समेत 9 के खिलाफ वारंट, 27 के खिलाफ दाखिल हो चुकी है चार्जशीट

बिहार के दो बाहुबली पूर्व MLA गिरफ्तार, राजन तिवारी को रक्सौल, सुनील पांडेय को मिर्जापुर से पकड़ा

Bihar Weather Update: बिहार के कई हिस्‍सों में अहले सुबह हल्‍की बूंदाबांदी, जानें कैसा रहेगा आज का मौसम

आरसीपी सिंह पर बोले सीएम नीतीश- पार्टी का क्या हाल कर रखा था सबको पता है, ललन सिंह देंगे अच्छे से जवाब

युवाओं को अपहरण उद्योग में माहिर बनाना चाहते हैं नीतीश कुमार, जानें ऐसा क्यों कहा सुशील मोदी ने

OPINION: A to Z की बात करने वाले तेजस्वी को लालू यादव के MY समीकरण पर भरोसा

गलत साइड से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक और टेंपो में सीधी टक्‍कर, 2 महिलाओं समेत 4 की मौत


विजयीपुर थाने विजयीपुर गांव की रहने वाली स्वयं सहायता समूह की सदस्य सुनीता कुंवर के खाते में बैंक से लोन का पैसा आया. उसने पासबुक बैंक में ले जाकर बैलेंस चेक कराया तो शून्य बताया. लोन का पूरा पैसा खाते से निकल चुका था. जिसके बाद सुनीता ने थाने में एफआइआर दर्ज करायी.

नौ लोगों पर हुई प्राथमिकी

विजयीपुर थाने की पुलिस ने सुनीता देवी के बयान पर मिथिलेश पांडेय, मुकेश पांडेय, सुधाकर पांडेय, कुन्दन पांडेय, कुशल पांडेय सहित नौ लोगों को नामजद करते हुए प्राथमिकी दर्ज करायी है. पुलिस ने इसमें विजयीपुर गांव के मिथिलेश पांडेय को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस के मुताबिक महिलाओं का समूह मिथिलेश पांडेय के द्वारा ही बनाया गया था, जिसमें 250 से 300 महिलाएं सदस्य हैं.