Home / News / bihar /

22 ak 47 rifle recovery case munger court convicted 2 among 12 accused know latest updates nodmk3

22 AK-47 बरामदगी मामले में 2 दोषी करार, जमीन के अंदर, कुएं और नालों से मिले थे खतरनाक हथियार

AK-47 बरामदगी मामले में मुंगेर की अदालत ने बुधवार को अपना फैसला सुना दिया. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

AK-47 बरामदगी मामले में मुंगेर की अदालत ने बुधवार को अपना फैसला सुना दिया. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

मुंगेर में जमीन के अंदर से लेकर कुएं और नालों से 22 AK-47 राइफल और उसके पार्ट्स बरामद किए गए थे. जांच में सभी राइफल के मध्य प्रदेश स्थित सीओडी (सेन्ट्रल ऑर्डानेंस डिपो ) से होने का पता चला था. इस मामले में अब मुंगेर की एक कोर्ट ने फैसला सुनाया है.

मुंगेर. बिहार के बहुचर्चित AK-47 राइफल रिकवरी मामले में मुंगेर की अदालत ने फैसला सुना दिया है. कोर्ट ने इस मामले में 2 को दोषी करार दिया है. बता दें कि AK-47 बरामदगी मामले में कुल 12 आरोपियों के खिलाफ मामला चला था. कोर्ट ने इनमें से 2 को दोषी करार दिया है. बता दें कि जमीन के अंदर, कुएं और नाले से ताबड़तोड़ 22 AK-47 राइफलें बरामद की गई थीं. इससे बिहार ही नहीं बल्कि पूरे देश में सनसनी फैल गई थी. AK-47 राइफल के पार्ट्स भी बरामद किए गए थे. इस बरामदगी से जांच एजेंसियों की भी नींद उड़ गई थी. इसी मामले में न्‍यायाधीश बिपिन बिहारी की अदालत ने फैसला सुनाया है.

AK-47 बरामदगी मामले में जज बिपिन बिहारी रॉय (एडीजे 7) की अदालत ने 12 वादियों के आरोपों पर अंतिम सुनवाई की, जिनमें से 2 दोषी करार दिए गए हैं. कोर्अ ने 10 आरोपियों को बरी कर दिया है. इनमें से 3 महिला और 7 पुरुष शामिल हैं. बरी होने के बावजूद सभी आरोपियों को फिलहाल जेल में ही रहना होगा, क्योंकि AK-47 बरामदगी मामले में कुल 8 मामले दर्ज हैं. इनमें से 1 मामला एनआईए के पास है. रिहा अभियुक्तों का अन्य केसों में भी नाम शामिल है. दोषियों की सजा पर अगली तारीख पर सुनवाई होगी.


बिहार को एक और एक्‍सप्रेस वे की सौगात, ₹28500 करोड़ की लागत से बनेगी वाराणसी-रांची-कोलकाता हाईस्‍पीड रोड

आपके शहर से (मुंगेर)

OMG! बर्थडे पार्टी में नाचने से इंकार किया तो प्राइवेट पार्ट में डाल दिया 12 इंच लंबा टॉर्च, जानें पूरा मामला

बिहार: इस जिले में डीएम साहब खुद लगाते हैं क्लास, करते हैं संवाद, जानिये क्या है मकसद?

एकतरफा प्यार में शैतान बना प्रेमी, दोस्तों के साथ युवती से किया गैंगरेप फिर कर दी हत्या

तेज प्रताप यादव और ऐश्वर्या राय की हाईकोर्ट में हुई काउंसलिंग, पूछा गया- साथ रहना है, या नहीं?

बिहार सरकार की श्रावणी मेले की तैयारी: टेंट सिटी बनाने के साथ लगेंगे LED स्‍क्रीन, गंगा घाट पर मिलेंगी कई सुविधाएं

अग्निपथ योजना: सदन की कार्यवाही का विपक्ष ने किया वॉक आउट, सत्ताधारी JDU के सदस्य भी रहे नदारद

VIDEO: बिहार के स्कूल में चला 'हउ वाला फील द' सांग, साथ-साथ मजा लेते रहे गुरुजी और बच्चे

दादा के साथ खेत गए पोते को सांप ने डसा तो 2 घंटे तक झाड़-फूंक कराते रहे परिजन, जानें फिर आगे क्‍या हुआ?

SDO के बॉडीगार्ड ने सरकारी आवास में खुद को गोली मारी, घरेलू समस्या से था परेशान

RJD विधायक को विधानसभा में लगा चूना,अग्निपथ विरोध के दौरान इंगेजमेंट रिंग से गायब हुआ हीरा

अग्निपथ योजना: तेजस्वी यादव पर बरसे BJP सांसद रामकृपाल यादव, कहा- सत्ता पाने की है जल्दबाजी


कोर्ट ने AK-47 बरामदगी मामले में अभियुक्त इरशाद और सत्यम को दोषी करार दिया है. साक्ष्य के अभाव में 3 महिला सहित 10 आरोपियोंन को रिहा कर दिया गया. रिहा सभी अभियुक्तों को अभी जेल में ही रहना पड़ेगा, क्योंकि AK-47 मामले में दर्ज अन्य 7 मामलों में भी इनका नाम शामिल है. बचाव पक्ष की ओर से एडवोकेट शाहिद हुसैन ने तो सरकार की ओर से लोक अभियोजक शमीम अनवर ने दलीलें पेश कीं. लोक अभियोजक ने बताया की साक्ष्य के अभाव में 10 को इस केस में रिहा किया कर दिया गया है.

क्‍या है मामला?
पिछले साल मुंगेर में जमीन के अंदर से लेकर कुएं और नालों से 22 AK-47 राइफल और उसके पार्ट्स बरामद किए गए थे. जांच में यह सामने आया है कि सभी राइफल मध्य प्रदेश के एक सीओडी (सेन्ट्रल ऑर्डानेंस डिपो ) का है. इसमें सेना के जवान सहित सीओडी के कर्मी और ऑफिसर की संलिप्‍तता भी सामने आई थी. जांच में खुलासा होने के बाद बिहार के मुंगेर से लेकर एमपी और झारखंड पुलिस द्वारा छापेमारी की गई थी. इसमे सेना के जवान, सीओडी के अधिकारी और कर्मी की गिरफ्तारी हुई थी. गिरफ्तार अभियुक्तों ने सीओडी से करीब 60 से 70 AK-47 राइफलों के गायब होने की बात कही थी. इस मामले में पुलिस ने जिले के विभिन्न थानों में 8 केस दर्ज किया था. एक केस की जांच NIA कर रही है.

Tags:Crime News, Munger news