भाषा चुनें :

हिंदी

पटना: ड्राइविंग करते नाबालिग बच्चों के गार्जियन पर भी होगी कार्रवाई

पटना के जिला परिवहन विभाग ने फरमान निकाला है कि अब 18 साल से कम उम्र के बच्चे अगर सड़क पर बाइक चलाते पकड़े गए तो बच्चे को बाइक देने के लिए गार्जियन भी जिम्मेदार माने जाएंगे.

News18Hindi |

पटना में मोटरसाइकल चलाने पर नाबालिगों बच्चों की अब खैर नहीं है. बच्चे के बढ़ते अपराध और सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए पटना परिवहन विभाग ने बड़ा कदम उठाया है. दरअसल, नाबालिग बच्चे अब ड्राइविंग करते हुए पकड़े गए तो ना सिर्फ बच्चे की बल्कि उसके गार्जियन पर भी पर भी कार्रवाई होगी.


पटना के जिला परिवहन विभाग ने फरमान निकाला है कि अब 18 साल से कम उम्र के बच्चे अगर सड़क पर बाइक चलाते पकड़े गए तो बच्चे को बाइक देने के लिए गार्जियन भी जिम्मेदार माने जाएंगे. इसके लिए गार्जियन को ना सिर्फ जुर्माना बल्कि साथ में कारावास की भी सजा हो सकती है.


ये भी पढ़ें- बिहार में कई इलाकों में लगे भूकंप के झटके, घरों से बाहर निकले लोग


जिला परिवहन विभाग ने सख्ती के साथ इस पर पालन करना शुरू भी कर दिया है. नाबालिक बच्चों के बाइक चलाने वाले पर मोटर अधिनियम की धारा 3 के तहत कार्रवाई होगी. इसमें 500 रुपए का जुर्माना या 3 महीने का कारावास या दोनों हो सकती है.


ये भी पढ़ें- 9 साल के लंबे इंतजार के बाद बिहटा में शुरू हुआ ESIC अस्पताल


गार्जियन पर कार्रवाई, नाबालिक के पकड़े जाने पर गार्जियन पर मोटर अधिनियम की धारा 5 के तहत कार्रवाई हो सकती है. इसमें 1000 रुपए का जुर्माना या 3 महीने का कारावास या दोनों हो सकती है.


बहरहाल, अब अगर आपके नाबालिग बच्चे अति उत्साह में बाइक लेकर बाहर निकलते हैं तो ये आपकी जिम्मेदारी है कि उसे रोके वर्ना इसके दुष्परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें.

(पटना से रवि एस नारायण की रिपोर्ट)