Home / News / bihar /

bihar assembly speaker vijay sinha angry over mlas asked question not being answered nodmk8

विधायकों के प्रश्नों के उत्तर नहीं मिलने से बिहार विधानसभा अध्यक्ष नाराज़, अधिकारियों को लगाई फ़टकार

बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय सिन्हा ने सभी नोडल पदाधिकारियों को मॉनसून सत्र के पहले के सत्रों के सभी लंबित प्रश्नों के उत्तर 10 जुलाई तक देने का निर्देश दिया है

बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय सिन्हा ने सभी नोडल पदाधिकारियों को मॉनसून सत्र के पहले के सत्रों के सभी लंबित प्रश्नों के उत्तर 10 जुलाई तक देने का निर्देश दिया है

Bihar News: विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा ने शनिवार को बुलाई गई बैठक में विभागवार लंबित प्रश्नों की समीक्षा की और अब तक जिन प्रश्नों के उत्तर प्राप्त नहीं हुए हैं उसके लिए संबंधित विभागों के नोडल पदाधिकारियों को लापरवाही के लिए फटकार लगायी. उन्होंने सभी नोडल पदाधिकारियों को मॉनसून सत्र के पहले के सत्रों के सभी लंबित प्रश्नों के उत्तर 10 जुलाई तक देने का निर्देश दिया

पटना. बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने मॉनसून सत्र (Monsoon Session) और पिछले सत्र (बजट सत्र) के दौरान सदन में विधायकों के द्वारा पूछे गए प्रश्नों के लंबित उत्तर और वर्तमान सत्र में विभागों के द्वारा प्राप्त कराए जा रहे सवाल के जवाब के संबंध में बिहार सरकार (Bihar Government) के सभी विभागों के नोडल पदाधिकारियों के साथ शनिवार को समीक्षा बैठक की. बैठक में स्पीकर ने विभागवार लंबित प्रश्नों की समीक्षा की और अब तक जिन प्रश्नों के उत्तर प्राप्त नहीं हुए हैं उसके लिए संबंधित विभागों के नोडल पदाधिकारियों को लापरवाही के लिए फटकार लगायी. उन्होंने सभी नोडल पदाधिकारियों को मॉनसून सत्र के पहले के सत्रों के सभी लंबित प्रश्नों के उत्तर 10 जुलाई तक देने का निर्देश दिया है. विधानसभा अध्यक्ष (Bihar Assembly Speaker) ने बैठक में मौजूद संसदीय कार्य विभाग के अपर मुख्य सचिव ब्रजेश मेहरोत्रा को इसकी मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी दी.

स्पीकर विजय सिन्हा ने कहा कि जब सरकार सजग हो कर सभी प्रश्नों के शत-प्रतिशत उत्तर देने के लिए तैयार है, तब कार्यपालिका में बैठे पदाधिकारियों की लापरवाही और अक्षमता कहीं न कहीं सरकार की इस प्रतिबद्धता को कुंद कर विकास की गति में बाधक बन रही है, जो लोकहित में नहीं है. बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि प्रश्नोत्तर काल में ही सदन की आत्मा निवास करती है. सदन में सदस्यों के द्वारा पूछे जाने वाले प्रश्न का सरोकार सीधे-सीधे जनता से होता है. इन प्रश्नों से सरकार को जनहित का काम करने और उसके लिए नीति निर्धारण करने में मदद मिलती है. ऐसे में इनके उत्तर उपलब्ध नहीं कराना घोर लापरवाही मानी जायेगी, और इसके लिए कार्यपालिका में बैठे पदाधिकारियों को चिन्हित (पहचान) कर उनकी जवाबदेही तय की जायेगी.


विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि जिन विभागों के पदाधिकारी सजग हैं, उनका प्रदर्शन बेहतर भी हुआ है इसके लिए उनके नोडल पदाधिकारी बधाई के पात्र हैं. उन्होंने विधानसभा के वर्तमान मॉनसून सत्र के दौरान प्रश्नों के शत-प्रतिशत जवाब उपलब्ध कराने हेतु सभी विभागों के नोडल पदाधिकारियों को प्रश्नों के लिए निर्धारित तिथि को सत्र शुरू होने के कम से कम एक घंटे पूर्व सभा सचिव और प्रश्न वर्ग के प्रभारी उप सचिव से समन्वय स्थापित करने का भी निर्देश दिया.

आपके शहर से (पटना)

नीतीश कुमार के खिलाफ गिरिराज सिंह ने खोला मोर्चा, कहा- अंतिम बार बने हैं मुख्यमंत्री

BTSC ANM Recruitment 2022: बिहार में 10,000 से अधिक पदों पर सरकारी नौकरी का मौका, बस होनी चाहिए ये डिग्री

16 अगस्त को होगा महागठबंधन सरकार का कैबिनेट विस्तार! मंत्रियों के नाम कल होंगे फाइनल

पटना में स्कूल से झंडोत्तोलन कर लौट रहे दो शिक्षकों की ट्रेन से कटकर मौत

महागठबंधन सरकार के कैबिनेट विस्तार में कांग्रेस के बनेंगे 2 मंत्री, आज होगी नामों की घोषणा

फोन कर क्रेडिट कार्ड से ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, 2 साइबर अपराधी गिरफ्तार

स्वतंत्रता दिवस पर स्कूल की छत की रेलिंग गिरी, हादसे में 17 बच्चे घायल, 4 की हालत गंभीर

बिहार BJP कोर कमेटी की मंगलवार को दिल्ली में बैठक, दोनों सदनों में नेता चुनने पर होगा मंथन

Bihar: मंत्रिमंडल विस्तार से पहले कांग्रेस मुख्यालय में बवाल, प्रभारी को दी गालियां

बालू कारोबारी की दिनदहाड़े हत्या, थाना से कुछ दूर पर ही शूटर्स ने मारी गोलियां

महागठबंधन सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार का फॉर्मूला तय, कल 31 लोग लेंगे मंत्री पद की शपथ


Tags:Bihar Legislative Assembly, Bihar News in hindi, Bihar politics, Monsoon Session