Home / News / bihar /

bihar police stf patna most wanted criminal ravi gope arrested from nagpur he was absconding for 14 years nodmk8

पटना के मोस्ट वॉन्टेड क्रिमिनल को बिहार STF ने नागपुर से दबोचा, 14 साल से था फ़रार

पटना का कुख्यात अपराधी रवि गोप वर्ष 2008 से फरार चल रहा था. उसपर पटना के अलग-अलग पुलिस थाना में 16 केस दर्ज हैं

पटना का कुख्यात अपराधी रवि गोप वर्ष 2008 से फरार चल रहा था. उसपर पटना के अलग-अलग पुलिस थाना में 16 केस दर्ज हैं

Bihar News: बिहार एसटीएफ ने बताया कि कुख्यात रवि गोप कई संगीन मामलों में आरोपी है. वो नागपुर में रह कर पटना में अपराध की दुनिया को संचालित कर रहा था. वो खुद को पुलिस की नजर से बचाने के लिए यहां स्क्रैप का बिजनेस करता था. रवि गोप ने महाराष्ट्र के साथ अपनी जड़ें गोवा तक फैला रखी थी

पटना. बिहार की राजधानी पटना का मोस्ट वॉन्टेड अपराधी (Most Wanted Criminal) रवि गोप को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. 50 हजार रुपये के इस इनामी अपराधी को बिहार एसटीएफ (Bihar STF) ने महाराष्ट्र के नागपुर से पकड़ा है. कुख्यात रवि गोप पिछले लगभग 14 साल से फरार चल रहा था. पुलिस के डर से उसने बिहार छोड़ दिया था. पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार रवि गोप कई संगीन मामलों में आरोपी है. वो नागपुर में रह कर पटना में अपराध (Bihar Crime) की दुनिया को संचालित कर रहा था. वो खुद को पुलिस की नजर से बचाने के लिए यहां स्क्रैप का बिजनेस करता था. रवि गोप ने महाराष्ट्र के साथ अपनी जड़ें गोवा तक फैला रखी थी.

रवि गोप साल 2008 से फरार चल रहा था. बिहार एसटीएफ की टीम पिछले कई महीनों से उसकी जानकारी जुटा रही थी, जब उसके नागपुर में छिपे होने का पता चला तो पटना से एसटीएफ की एक टीम नागपुर पहुंची और महाराष्ट्र पुलिस के सहयोग से रवि गोप को दबोच लिया गया. पुलिस गिरफ्तार रवि गोप को लेकर नागपुर से पटना पहुंच गई है. रवि का आतंक पटना के राजेंद्र नगर रोड नंबर 1 में काफी दिनों तक रहा था. वो इसी इलाके का रहने वाला है और बम फेंकने में एक्सपर्ट है. पुलिस के मुताबिक उसने बम मारकर कर कई हत्याकांड को अंजाम दिया है. पटना के गोविंद मित्रा रोड से लेकर दाना और नाला रोड के फर्नीचर व्यवसायी उसके भय से कांपते थे. नागपुर में होने के बावजूद वो पटना के कारोबारियों को धमकी देकर उनसे वसूली करता था. इस दौरान मिली शिकायत के आधार पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया.


एसटीएफ की मानें तो नाला रोड में बीजेपी के नेता क्रांति की हत्या भी रवि गोप ने की थी. इसके अलावा संग्राम सिंह और अशोक गुप्ता हत्याकांड में भी उसका नाम आया था. रवि गोप के खिलाफ पटना के तीन थानों में 16 एफआईआर दर्ज हैं. इनमें अकेले कदमकुआं थाने में एक दर्जन केस दर्ज हैं जबकि पीरबहोर में तीन और फुलवारी शरीफ थाना में एक एफआईआर दर्ज है. शूटर गुड्डू शर्मा जिसे पुलिस ने दिल्ली में वर्ष 2005 में मार गिराया था, वो रवि गोप का राइटहैंड था.

आपके शहर से (पटना)

जब्त ट्रकों को पुलिस कस्टडी से लेकर भाग निकले बालू माफिया, SP ने पांच को किया सस्पेंड

Bihar: 75 साल में पहली बार गांव के युवक को मिली सरकारी नौकरी, जश्न में डूबे लोग

रिटायरमेंट से पहले सिविल सर्जन ने परिवार को किया मलामाल, बेटा-बहू, पत्नी को दिया टेंडर

बिल्कुल सांप जैसे दिखने वाले इस कीट को 'अवतार' क्यों मानने लगे लोग? जानिये सच्चाई

जहां नक्सलियों के डर से कांपते थे लोग वहां घुसकर बैठ गए सुरक्षा बल, जानें कैसे हुआ कमाल!

JDU का मिशन 2024, पोस्टर में नीतीश कुमार बने अर्जुन तो कृष्ण की भूमिका में ललन सिंह

World Tourism Day 2022: अगर घूमने का प्लान बना रहे हैं तो बोधगया की इन जगहों पर जरूर जाएं

भागलपुर में बेखौफ हुए अपराधी, हत्या के बाद बगीचे में फेंकी युवक की लाश

10वीं के छात्र की स्कूल कैंपस में दौड़ा-दौड़ाकर हत्या, विरोध में सुलग रहा शहर

बिहारः शाम को दुकान से काम कर घर लौट रहा था युवक, सुबह पुलिया के नीचे मिली लाश

Bihar Police Admit Card 2022: बिहार कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के लिए जारी होने वाला है एडमिट कार्ड, 16 अक्टूबर को है एग्जाम


Tags:Bihar News in hindi, Bihar police, Crime News, Patna Police

अधिक पढ़ें