होम / न्यूज / बिहार /

खेत-खलिहानों का सीएम नीतीश कुमार ने किया हवाई सर्वेक्षण, हो सकती है कोई बड़ी घोषणा

खेत-खलिहानों का सीएम नीतीश कुमार ने किया हवाई सर्वेक्षण, हो सकती है कोई बड़ी घोषणा

सीएम नीतीश कुमार ने बिहार के कई इलाको का हवाई सर्वेक्षण कर खेत-खलिहानों का जायजा लिया.

सीएम नीतीश कुमार ने बिहार के कई इलाको का हवाई सर्वेक्षण कर खेत-खलिहानों का जायजा लिया.

Relief Plan For Farmers: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गया में अधिकारियों को निर्देश दिया कि अल्पवर्षा के कारण उत्पन्न स्थिति पर नजर रखें और किसानों को सहायता देने के लिए पूरी तैयारी रखें. डीजल अनुदान योजना के तहत किसानों को डीजल अनुदान का लाभ तेजी से दिलाएं. संभावित सूखे की स्थिति में किसानों को हरसंभव मदद देने की योजना बनाएं. किसानों को 16 घंटे निर्बाध बिजली आपूर्ति करें.

हाइलाइट्स

सीएम ने जहानाबाद, गया और औरंगाबाद में कम बारिश के कारण पैदा हुई स्थिति का जायजा लिया.
हालांकि इस दौरान जबर्दस्त बारिश हुई. खराब मौसम के कारण गया में सीएम का हेलिकॉप्टर लैंड.
सड़क मार्ग से लौटना पड़ा पटना. इस दौरान गया-पटना रूट पर सीएम ने धनरोपनी का लिया जायजा.

पटना. बिहार में सूखे की स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज हवाई सर्वेक्षण कर जहानाबाद, गया और औरंगाबाद जिले में कम बारिश के कारण पैदा हुई स्थिति का जायजा लिया. इस दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए.

मुख्यमंत्री ने हवाई सर्वेक्षण के दौरान जहानाबाद जिले के मोदनगंज, घोसी, मखदुमपुर प्रखंड, गया जिले के अतरी, वजीरगंज, टनकुप्पा, मोहनपुर, बाराचट्टी, डोभी, अमास, गुरुआ और गुरारु प्रखंड व औरंगाबाद जिले के मदनपुर, देव कुटुंबा, नवीगंज, औरंगाबाद, रफीगंज और गोह प्रखंड में धान की रोपनी का जायजा लिया. कम बारिश के कारण इन जिलों में धान की रोपनी काफी कम हुई है. हालांकि मुख्यमंत्री के हवाई सर्वेक्षण के दौरान आज इन जिलों में अच्छी बारिश हुई.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हवाई सर्वेक्षण के दौरान मौसम खराब होने के कारण गया एयरपोर्ट पर उतरे, जिसके बाद मुख्यमंत्री ने गया जिले के जिलाधिकारी से कम बारिश के कारण धान की रोपनी की स्थिति की अद्यतन जानकारी ली और आवश्यक निर्देश दिए.

आपके शहर से (पटना)

Munger: मेगा क्रेडिट कैंप का आयोजन कर एक दिन में बांटे गये 136.70 करोड़ रुपये लोन

बिहार: सायबर अपराधियों के निशाने पर अफसर, छपरा डीएम के नाम पर मांगी जा रही रकम

Crime News: बिहार में सुबह-सुबह गोलियों की तड़तड़ाहट, आरा में भाजपा नेता को मारी गोली

बिहार में होने वाले नगर निकाय चुनाव पर क्या लगेगी रोक? पटना HC 4 अक्टूबर को सुनाएगा फैसला

बिहार इन्वेस्टर्स मीट: अडानी ग्रुप ने की बिहार सरकार की तारीफ, नीतीश-तेजस्वी ने कही यह बात

तेजस्वी यादव ने की नई शुरुआत, ट्विटर के जरिए युवक को पहुंचाई मदद; IGIMS में कराई बेड की व्यवस्था

Video: 'हाथ मत छोड़ना, मर जाऊंगा', स्पीड में थी ट्रेन और खिड़की पर लटका युवक लगाता रहा गुहार

Navratri 2022: मंदिर के फर्श पर सीधा लेट गया ये भक्त, सीने पर स्थापित कर लिया कलश

कैमूर: रामगढ़ सरस्वती शिशु मंदिर से 3 साल की मासूम बच्ची का अपहरण

CSBC Bihar Police Admit Card 2022 Released: CSBC ने जारी किया प्रोहिबिशन कांस्टेबल का एडमिट कार्ड, ऐसे करें डाउनलोड 

PFI पर बैन क्या बिहार की सियासत पर ज्यादा असर डालेगा? भाजपा का बड़ा इशारा


मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि अल्प वर्षा के कारण उत्पन्न स्थिति पर नजर रखें और किसानों को सहायता देने के लिए पूरी तैयारी रखें. डीजल अनुदान योजना के तहत किसानों को डीजल अनुदान का लाभ तेजी से दिलाएं ताकि उन्हें राहत मिल सके. संभावित सूखे की स्थिति में किसानों को हरसंभव मदद देने की योजना बनाएं. किसानों को 16 घंटे निर्बाध बिजली आपूर्ति करें. बिजली की उपलब्धता रहने से किसानों के लिए सिंचाई कार्य में सहूलियत होगी और जितने क्षेत्रों में धान की रोपनी हुई है उसका बचाव हो सकेगा. वैकल्पिक फसल योजना के तहत इच्छुक किसानों को जल्द-से-जल्द बीज उपलब्ध कराएं ताकि किसानों को कृषि कार्य में राहत मिल सके.


मुख्यमंत्री गया से पटना सड़क मार्ग से लौटे. पटना लौटने के क्रम में मानपुर, खिजरसराय, ईस्लामपुर, एकंगरसराय, हिलसा, दनियावां और फतुहा प्रखंड के क्षेत्रों में धान की रोपनी की स्थिति का भी जायजा लिया. माना जा रहा है कि सरकार बिहार में सूखे की समस्या से जूझ रहे किसानों के लिए कोई बड़ी घोषणा कर सकती है, क्योंकि बिहार के कई जिलों में सूखे की समस्या गंभीर होते जा रही है .

Tags:Bihar News, CM Nitish Kumar, Drought

अधिक पढ़ें