लेटेस्ट खबरेंमनीअजब-गजबबजट 2023क्रिकेटफूडमनोरंजनवेब स्टोरीजफोटोकरियर/ जॉब्सलाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेसशॉर्ट वीडियोनॉलेजलेटेस्ट मोबाइलप्रदेशपॉडकास्ट दुनियाराशिNews18 Minisसाहित्य देशक्राइमLive TVकार्टून कॉर्नर#MakeADent #RestartRight #HydrationforHealth#CryptoKiSamajhCryptocurrency
होम / न्यूज / बिहार /

कुढ़नी उपचुनाव: पूर्व आरजेडी विधायक अनिल सहनी के बागी तेवर, बोले- अतिपिछड़ा विरोधी है नीतीश सरकार

कुढ़नी उपचुनाव: पूर्व आरजेडी विधायक अनिल सहनी के बागी तेवर, बोले- अतिपिछड़ा विरोधी है नीतीश सरकार

न्यूज -18 से बात करते हुए अनिल सहनी ने कहा कि कुढ़नी में अति पिछड़ा समाज को टिकट नहीं मिलने से सभी लोग मर्माहत हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली से जाने के बाद आगे की रणनीति पर विचार करेंगे. लोगों से राय, फीडबैक लेंगे. उसके बाद चुनाव को लेकर फैसला करेंगे.

आरजेडी विधायक अनिल सहनी की सदस्यता रद्द होने के बाद कुढ़नी सीट पर उपचुनाव हो रहा है.

आरजेडी विधायक अनिल सहनी की सदस्यता रद्द होने के बाद कुढ़नी सीट पर उपचुनाव हो रहा है.

पटना. बिहार में मुजफ्फरपुर के कुढ़नी विधानसभा सीट पर पांच दिसंबर को उपचुनाव होने वाला है. उसको लेकर नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो गई है. लेकिन, आरजेडी के पूर्व एमएलए अनिल सहनी की नाराजगी सामने आ रही है. जिस तरह से आरजेडी ने अपनी यह सीट सहयोगी जेडीयू को दे दी है. उसके बाद आरजेडी नेता अनिल सहनी आहत नजर आ रहे हैं. गौरतलब है कि आरजेडी विधायक अनिल सहनी की सदस्यता रद्द होने के बाद ही इस सीट पर उपचुनाव हो रहा है. अनिल सहनी के खुद चुनाव लड़ने पर तो रोक है, लेकिन अपने परिवार या अपने निषाद समाज के खाते से सीट फिसलने के बाद वे अब खुलकर सामने आ गए हैं.

न्यूज -18 से बात करते हुए अनिल सहनी ने कहा कि कुढ़नी में अति पिछड़ा समाज का टिकट नहीं मिलने से सभी लोग मर्माहत हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली से जाने के बाद आगे की रणनीति पर विचार करेंगे. लोगों से राय लेंगे, फीडबैक लेंगे, उसके बाद चुनाव को लेकर फैसला करेंगे.

अनिल सहनी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी निशाना साधते हुए उनके अतिपिछड़ा प्रेम पर भी सवाल खड़ा किया है. सहनी ने कहा कि कर्पूरी ठाकुर 1977 में अति पिछड़ा को चिन्हित किए थे. नीतीश जी उसमें 5-7 परसेंट अपना अतिपिछड़ा को जोड़ दिए. जो धनबली था बाहुबली था. वैसे अति पिछड़ा समाज को जोड़कर नगर निकाय और मुखिया के चुनाव में अति पिछड़ा का शोषण किया गया और ये सब नीतीश कुमार के शासनकाल में हुआ. वह किसी से छुपा नहीं है. आरजेडी नेता ने कहा कि कर्पूरी ठाकुर के जो चिन्हित अति पिछड़ा थे. वह भी आज मर्माहत हैं. उनका वोट बैंक 35 प्रतिशत है.

आपके शहर से (पटना)

Bihar Board Exam 2023: बिहार बोर्ड 12वीं के 4 पेपर हुए लीक! जानें क्यों टेंशन में हैं स्टूडेंट्स

Patna: गंगा की लहरों के बीच शुरू हुआ एमवी गंगा विहार फ्लोटिंग रेस्टोरेंट, प्राइवेट रूम भी कर सकते हैं बुक

Valentine day: मुजफ्फरपुर के इस रेस्टोरेंट में करिए कैंडल लाइट डिनर, खास दिन के लिए खास इंतजाम

बिहार में पहला बुक रीडिंग मैराथन, किताबों में रुचि बढ़ाने के लिए अनोखा कार्यक्रम, एक साथ 721 लोगों ने पढ़ी किताबें

JDU अध्यक्ष Lalan Singh का बड़ा बयान, 'Kushwaha नहीं है संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष' |Bihar Politics News

संजय झा ने नीतीश के विरोधियों को दिया जवाब, बोले- टाइगर अभी जिंदा है! जानें क्या है इसके मायने

यात्रीगण कृपया ध्यान दें ! सहरसा से जाने वाली इन ट्रेनों में अब मिलने लगे हैं बिहारी और चाइनीज व्यंजन

Bihar Board Exam 2023: परीक्षा से पहले चेक कर लें बिहार बोर्ड 12वीं इकोनॉमिक्स का सिलेबस

Vande Bharat Train Bihar: बिहार के इन रेलवे स्टेशनों से गुजरती है वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन, यहां है स्टॉपेज

Lalan Singh ने Upendra Kushwaha को किया साफ, कुशवाहा JDU में नहीं है | Bihar Politics News

Superfast News: गांव -शहर की 100 बड़ी खबरें I Top News I Non StopNews I 100 Gaon | 100 News


अब अनिल सहनी उसी 35 फीसदी वोटबैंक की बात कर अतिपिछड़ा की लड़ाई लड़ने की बात कर रहे हैं. सहनी कहते हैं, पूरे बिहार के अति पिछड़ा को गोलबंद कर बताऊंगा कि अतिपिछड़ा का शोषण करने वाला अब तुम्हारी सरकार (नीतीश सरकार) नहीं चलेगी. अब सरकार नहीं चलने वाली है. गांव गांव में पंचायत में जाकर समझाएंगे कि अति पिछड़ा के साथ कैसे छल होता है.

अनिल सहनी ने कहा कि महागठबंधन में जब हम थे और हैं अति पिछड़ा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि कोई व्यक्तिगत आदमी जब बोलेगा कि हमारे ही कहने पर अति पिछड़ा वोट देता है तो अति पिछड़ा इसी (कुढ़नी प्रत्याशी) में समझ गया है. आप अति पिछड़ा को क्यों नहीं दिए?

बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ने के सवाल पर अनिल सहनी ने कहा कि अपने समर्थकों और कुढ़नी विधानसभा के मतदाताओं से राय कर, अगर ऐसा कुछ होता है तो उनकी राय के अनुसार अगला कदम उठाऊंगा. अगर समर्थक चाहते हैं, शुभचिंतक चाहते हैं, अगर वह कहेंगे तो हम उस पर विचार करेंगे. अनिल सहनी लड़े या न लड़े उसकी पहचान जुब्बा सहनी के खानदान से है. अमर शहीद जुब्बा सहनी के खानदान से है. जुब्बा सहनी का खून अनिल सहनी में चलता है. जुब्बा सहनी ने नहीं सोचा था कि देश आजाद होने के बाद हमारे परिवार को लोगों को झूठे केस में फंसा दिया जाएगा. वैसे लोगों को हम बता देना चाहते हैं वह दिन दूर नहीं जब तुम्हें भी रास्ता दिखाने का काम करेंगे.

तेजस्वी यादव पर भी अनिल सहनी ने कटाक्ष करते हुए कहा कि वे ज्यादा सीट रहते हुए भी नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाए हुए हैं. और उनकी सलाह पर ही चल रहे हैं, नहीं तो अपना सीट देने का कोई तुक नहीं था. लोग कह रहा है कि नीतीश कुमार जो कह रहे हैं वही कर रहे हैं तेजस्वी यादव.


ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: Bihar politics, Chief Minister Nitish Kumar, Tejaswi yadav

FIRST PUBLISHED : November 14, 2022, 23:17 IST
अधिक पढ़ें