होम / न्यूज / बिहार /

PFI पर बैन क्या बिहार की सियासत पर ज्यादा असर डालेगा? भाजपा का बड़ा इशारा

PFI पर बैन क्या बिहार की सियासत पर ज्यादा असर डालेगा? भाजपा का बड़ा इशारा

PFI Ban in Bihar: पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया यानी पीएफआई और इससे जुड़े 8 संगठनों पर प्रतिबंध के बाद राजनीति गर्मा गई है, बिहार में ज़्यादा ही हलचल है. भाजपा नेता इसका जोरशोर से समर्थन कर रहे हैं तो दूसरी तरफ राजद और जदयू के नेता इस पर सवाल उठा रहे हैं.

बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जायसवाल का नीतीश सरकार पर बड़ा बयान.

बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जायसवाल का नीतीश सरकार पर बड़ा बयान.

हाइलाइट्स

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया यानी पीएफआई पर बैन से बिहार की सियासत में हलचल तेज.
राजद- जदयू की बढ़ी बैचैनी तो भाजपा बना रही रणनीति. इस मुद्दे पर बीजेपी देगी जोर.
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने सोशल मीडिया में पोस्ट डालकर दिए संकेत.

पटना. देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में भारत सरकार ने PFI और इससे संबंधित 8 संगठनों पर पांच साल के लिए बैन लगा दिया है. इससे बिहार की सियासत में हलचल तेज है. बिहार में भाजपा और जदयू के रिश्तों में दूरी की एक वजह पीएफआई कनेक्शन को लेकर पटना के फुलवारी शरीफ टेरर मॉड्यूल का खुलासा होना भी बताया जा रहा है. चर्चा यह है कि पीएफआई पर प्रतिबंध की बात को भाजपा जोर शोर से उठाने की रणनीति बना रही है.

भाजपा-जदयू के बीच तल्खी के पीछे की वजह बिहार भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल का एक बयान बताया जा रहा है. इसमें उन्होंने प्रदेश के हर जिले में स्लीपर सेल और टेरर मॉड्यूल होने और बिहार सरकार के एक अधिकारी द्वारा इसको संरक्षण का आरोप लगाया था. कहा जा रहा है कि इसी आरोप से दूरी बढ़ी और महागठबंधन की सरकार बनना अंजाम तक पहुंचा.

जायसवाल ने कहा था कि इसमें सरकार में बैठे कुछ अधिकारियों की ऐसे लोगों से मिलीभगत है. इस बयान से बिहार NDA में हलचल तेज हो गई थी और JDU ने पलटवार किया था. कुछ महीने में भाजपा और JDU गठबंधन टूट गया और महागठबंधन की सरकार बन गई.

प्रतिबंध के बाद हमलावर हुए विपक्षी

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: Bihar politics, BJP, CM Nitish Kumar, JDU BJP Alliance, Lalu Prasad Yadav, PFI, RJD, Terrorism In India

FIRST PUBLISHED : September 29, 2022, 11:06 IST
अधिक पढ़ें