Home / News / bihar /

two bahubali ex mla of bihar rajan tiwari and sunil pandey arrested nodaa

बिहार के दो बाहुबली पूर्व MLA गिरफ्तार, राजन तिवारी को रक्सौल, सुनील पांडेय को मिर्जापुर से पकड़ा

गिरफ्तार दोनों पूर्व बाहुबली विधायक जेल भेजे गए.

गिरफ्तार दोनों पूर्व बाहुबली विधायक जेल भेजे गए.

Criminal in politics: बिहार के दो पूर्व बाहुबली विधायक गिरफ्तार. राजन तिवारी को बिहार-नेपाल बॉर्डर से तो सुनील पांडेय को यूपी के मिर्जापुर से गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार राजन तिवारी की तलाश लंबे समय से बिहार और यूपी पुलिस को थी जबकि सुनील पांडेय अपराधियों को दे रहे थे आश्रय और रच रहे थे आपराधिक साजिश.

हाइलाइट्स

पूर्व बाहुबली विधायक राजन तिवारी को रक्सौल इलाके से यूपी और बिहार पुलिस ने गिरफ्तार किया.
मोतिहारी के एसपी ने गिरफ्तारी की पुष्टि की. राजन तिवारी के खिलाफ यूपी में कई मामले दर्ज हैं.
बाहुबली विधायक सुनील पांडेय को अष्टभुजा पहाड़ी पर हुए गोलीकांड मामले में गिरफ्तार किया गया.
रविवार के गोलीकांड में जख्मी एक बुजर्ग की मौत हो गई. इस मामले में अन्य 6 आरोपी भी गिरफ्तार.

पटना. बिहार के पूर्व बाहुबली विधायक राजन तिवारी और सुनील पांडेय आज फिर से कानून की जद में आ गए हैं. राजन तिवारी को रक्सौल पुलिस की मदद से यूपी पुलिस ने गिरफ्तार किया है, जबकि सुनील पांडेय को मिर्जापुर से गिरफ्तार किया गया है. इन दोनों को जेल भेज दिया गया है.

राजन तिवारी की गिरफ्तारी की पुष्टि मोतिहारी के एसपी कुमार आशीष ने की है. कुमार आशीष के मुताबिक, यूपी पुलिस ने राजन तिवारी को रक्सौल जिले के हरैया ओपी क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने बताया कि यूपी पुलिस की टीम राजन तिवारी को गिरफ्तार करने के लिए रक्सौल आई थी. इस कार्रवाई में बिहार पुलिस ने उनकी मदद की है.

यूपी पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि राजन तिवारी रक्सौल के हरैया ओपी क्षेत्र में छुपा है. इसके बाद हरैया ओपी इंचार्ज की मदद से यूपी पुलिस ने पूर्व बाहुबली विधायक राजन तिवारी को गिरफ्तार कर लिया. पूर्व विधायक को यूपी पुलिस उन्हें अपने साथ ले गई है.

आपके शहर से (लखनऊ)

JEECUP Counselling 2022: राउंड 4 के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, रिजल्ट 27 को

UP में अब शव रखकर प्रदर्शन करना हुआ अपराध, अंत्येष्टि के लिए जारी की गई गाइडलाइन

UP के स्टूडेंट्स के लिए अहम फैसला, स्कूली विद्यार्थियों के लिए योग अनिवार्य

रामनगरी अयोध्या को मोदी-योगी की नई सौगात, लता मंगेशकर चौक का उद्घाटन, जानें पूरी डिटेल

UPSC ने पूछा- मुकुल गोयल को DGP पद से क्यों हटाया? योगी सरकार ने दिया ये जवाब

UP Rain Alert: यूपी के 38 जिलों में बारिश का येलो अलर्ट, 40 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से चलेंगी हवाएं

UP Weather: पूरे राज्य में बारिश ने बरपाया कहर, अब तक 20 की मौत, चारों तरफ सिर्फ पानी ही पानी

UPSC Recruitment 2022: लेबर इन्फोर्समेंट ऑफिसर सहित 54 पदों पर वैकेंसी, आवेदन के लिए बचे हैं चंद दिन

पीलीभीत में 27 सितंबर को यहां लगेगा रोजगार मेला, जानें, कौन है एलिजिबल, कितनी मिलेगी सैलेरी?

UP से लोकसभा चुनाव लड़ने पर क्‍या नीतीश कुमार बदलेंगे अपना इरादा? जानें क्‍यों उठ रहा यह सवाल

अखिलेश यादव का निशाना- बीजेपी सरकार ने गरीबी और बेरोजगारी दोनों को खूब बढ़ावा दिया


बताया जा रहा है कि गोविंदगंज विधानसभा क्षेत्र के पूर्व बाहुबली विधायक राजन तिवारी के खिलाफ यूपी में कई मामले दर्ज हैं. राजन तिवारी नेपाल भाग रहे थे, इसी दौरान उन्हें नेपाल बॉर्डर पर गिरफ्तार कर लिया गया. मोतिहारी के एसपी आशीष के मुताबिक, राजन के विरुद्ध दिसंबर 2005 में यूपी कोर्ट से गैरजमानती वारंट जारी हुआ था. यूपी का डॉन प्रकाश शुक्ला और राजन तिवारी के साथ 4 अपराधियों पर गोरखपुर के कैंट थाने में 15 मई 1998 को गैंगेस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की गई थी. बाबजूद राजन तिवारी 17 साल से कोर्ट में पेशी पर नहीं गए.


वहीं, बाहुबली विधायक सुनील पांडेय को यूपी पुलिस ने मिर्जापुर जिले के विंध्याचल थाना क्षेत्र की अष्टभुजा पहाड़ी पर रविवार को हुए गोलीकांड मामले में गिरफ्तार किया है. इस गोलीकांड में घायल एक वृद्ध की मौत इलाज के दौरान हो गई है.

मिर्जापुर सिटी के सीओ प्रभात राय के मुताबिक, इस मामले में मिर्जापुर पुलिस ने पहले ही 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार छहों अभियुक्तों को जेल भेजा चुका है. अब इस मामले में फरार चल रहे बाहुबली पूर्व विधायक सुनील पांडेय को भी सलाखों के पीछे पहुंचा दिया गया. गौरतलब है कि सुनील पांडेय बिहार के रोहतास जिले के रहने वाले हैं. इन पर आपराधिक षड्यंत्र रचने और अपराधियों को पनाह देने के आरोप हैं. मिर्जापुर पुलिस ने इसी आरोप में इन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

Tags:Bihar News, Crime In Bihar, UP police

अधिक पढ़ें