लेटेस्ट खबरेंमनीअजब-गजबफूडविधानसभा चुनावमनोरंजनफोटोकरियर/ जॉब्सक्रिकेटलाइफस्टाइलहेल्थ & फिटनेसनॉलेजलेटेस्ट मोबाइलप्रदेशपॉडकास्ट दुनियाराशिNews18 Minisसाहित्य देशक्राइमLive TVकार्टून कॉर्नरMission Swachhta Aur Paani#RestartRight #HydrationforHealth#CryptoKiSamajhCryptocurrencyNetra Suraksha
होम / न्यूज / बिहार /

Navratra 2022: देवताओं ने अंशदान कर स्थापित की मां सर्वेश्वरी की प्रतिमा, विश्व में एकमात्र है यह मंदिर

Navratra 2022: देवताओं ने अंशदान कर स्थापित की मां सर्वेश्वरी की प्रतिमा, विश्व में एकमात्र है यह मंदिर

पश्चिम चंपारण जिले के बेतिया राज परिक्षेत्र में आज भी सर्वेश्वरी देवी की आराधना की जाती है. विश्व में यह इकलौता स्थान है जहां देवी के सर्वेश्वरी रूप की पूजा की जाती है. यह कोई दंतकथा नहीं, बल्कि पौराणिक ग्रंथों में भी इसका उल्लेख है

आशीष कुमार

बेतिया. बात सतयुग की है. देवासुर संग्राम में पराजित देवगण ऋषि वेश में वेत्रवती जंगल में तपस्या कर रहे थे. उनकी तपस्या से प्रसन्न होकर मां भगवती उन्हीं ऋषियों में से एक ऋषि अभ्भृण की पुत्री के रूप में मरकतमणि शंख, चक्र, धनुष व वाण लेकर मृडाल पर प्रकट हुई और दुर्गम नामक दानव सेनानायक समेत अन्य राक्षसों का संहार कर अंर्तध्यान हो गई. इसके बाद लोक कल्याण के लिए समस्त देवताओं ने अपने-अपने अंश से वहां एक वैसी ही देवी की प्रतिमा को स्थापित की, जिसका नाम सर्वेश्वरी देवी पड़ा.

बिहार के पश्चिम चंपारण जिले के बेतिया राज परिक्षेत्र में आज भी सर्वेश्वरी देवी की आराधना की जाती है. विश्व में यह इकलौता स्थान है जहां देवी के सर्वेश्वरी रूप की पूजा की जाती है. यह कोई दंतकथा नहीं, बल्कि पौराणिक ग्रंथों में भी इसका उल्लेख है.

आपके शहर से (पश्चिमी चंपारण)

बीजेपी सांसद ने कहा- उनकी पार्टी के विधायक पाकिस्तान से चुनाव जीत कर आए हैं, बिहार में मच गया बवाल

Khagaria: Family Planning Operation के दौरान हुई बड़ी लापरवाही | Apna Bihar | Hindi News Update

Handicaped Special Report: कितनी कठिन है दिव्यांगों की डगर ? News 18 Vishesh | Hindi News

Madhya Pradesh के Jabalpur में Bus चला रहे Driver को आया Heart Attack | Latest Hindi News

Vaishali : शराबबंदी वाले बिहार में शराब पीने से फिर हुई मौतें, उठ रहे हैं सवाल | Latest Hindi News

Kurhani Bypolls : BJP की टोपी लगाकर किसने बांटी शराब ? Election Latest Update | Nitish Kumar

Purnia : बढ़ा अपराध, नवरत्न मोहल्ले में महिला से चैन छीन कर फरार हुए लूटेरे, CCTV Video आया सामने

Patna में लगा तीन साल बाद पुस्तम मेला, युवाओं की दिलचस्पी दिखा रही है रंग | Latest Hindi News

Bihar News : डॉ. राजेंद्र प्रसाद की जयंती आज, अभी भी विकसित नहीं हुआ पैतृक गांव । Latest Hindi News

Sasaram: ड्राईवर की सूझबूझ से टला बड़ा Train हादसा, Gaya के पास हुई घटना | Apna Bihar

कुढ़नी में शराब और सियासत! वायरल वीडियो ने कराई JDU की फजीहत, BJP ने किया चैलेंज


चेरी, सुगाव और बेतिया राजवंश करता रहा मंदिर की देखभाल

यहां के पुजारी राकेश झा बताते हैं कि लगभग 50 एकड़ भूखंड के बीच स्थापित बेतिया का यह दुर्गा बाग मंदिर मुख्य रूप से इसलिए प्रसिद्ध है, क्योंकि यहां मांगी गई सभी मुरादें पूरी होती हैं. यहां आने वाले भक्तों का विश्वास है कि माता सुख, संपति और सौभाग्यदायिनी हैं. कालांतर में चेरी वंश, सुगाव वंश और बेतिया राजवंश के द्वारा माता के इस शक्तिपीठ की देखभाल की गई.

मंदिर परिक्षेत्र में तालाब, बाग, अतिथिशाला और कूप सहित अन्य देवी-देवताओं की प्रतिमाएं स्थापित हैं. चेरी वंश के संरक्षक राजाओं की सूची का दो शिलालेख आज भी बेतिया राज में जमा है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

Tags: Bihar News in hindi, Champaran news, Durga Puja festival, Navratri festival

FIRST PUBLISHED : September 29, 2022, 13:22 IST
अधिक पढ़ें