Home / News / business /

Investment Tips : सिर्फ टैक्‍स बचाने के लिए न खरीदें बीमा पॉलिसी, हो सकता है ये नुकसान

Investment Tips : सिर्फ टैक्‍स बचाने के लिए न खरीदें बीमा पॉलिसी, हो सकता है ये नुकसान

आपको मिलने वाले रिटर्न में से महंगाई दर घटाकर वास्‍तविक रिटर्न का पता लगाया जा सकता है.

आपको मिलने वाले रिटर्न में से महंगाई दर घटाकर वास्‍तविक रिटर्न का पता लगाया जा सकता है.

जीवन बीमा पॉलिसी पर एक्‍सपेंश रेशियो भी ज्‍यादा रहता है, जिस कारण सालाना मिलने वाला रिटर्न और भी कम हो जाता है. इसके अलावा महंगाई दर का भी रिटर्न पर असर पड़ता है, जिससे वास्‍तविक रिटर्न शून्‍य से भी नीचे जा सकता है.

नई दिल्‍ली. कई लोग सिर्फ टैक्‍स बचाने के लिए जीवन बीमा पॉलिसी खरीद लेते हैं. उनका एजेंट बताता है कि अगर आप पॉलिसी करा लेंगे तो टैक्‍स के रूप में बड़ी बचत हो जाएगी. आपको भी बीमा एजेंट ऐसे ही झांसे में लेना चाहते हैं, तो जल्‍दबाजी न करें.

दरअसल, Income Tax के सेक्‍शन 80सी के तहत जीवन बीमा पॉलिसी के प्रीमियम पर सालाना 1.5 लाख रुपये की छूट मिल जाती है. इसी बात का सहारा लेकर बीमा एजेंट आप पर भारी-भरकम प्रीमियम का बोझ लाद देते हैं. आपको भी इसे लेकर सचेत रहना चाहिए और टैक्‍स बचाने के अन्‍य विकल्‍पों की तरफ देखना चाहिए. कई ऐसे Investment ऑप्‍शन हैं, जो आपको बीमा पॉलिसी से ज्‍यादा रिटर्न देती हैं. बीमा पॉलिसी पर कॉस्‍ट भी ज्‍यादा आती है, जिससे रिटर्न घटकर 4-5 फीसदी तक सीमित रह जाता है.

ये भी पढ़ें – शॉर्ट टर्म में ये तीन स्‍टॉक देंगे 10 फीसदी से ज्‍यादा रिटर्न, आज ही पोर्टफोलियो में करें शामिल

जनवरी-मार्च में होता है सबसे ज्‍यादा दबाव
इंश्‍योरेंस एजेंट पर उनकी कंपनियों की ओर से जनवरी-मार्च में पॉलिसी बेचने का सबसे ज्‍यादा दबाव रहता है. Taxpayers भी निवेश की जल्‍दबाजी में बीमा पॉलिसी खरीद लेते हैं, जबकि उन्‍हें इसकी जरूरत भी नहीं होती. बैंकबाजार.कॉम (BankBazaar.com) के सीईओ आदिल शेट्टी का कहना है कि बीमा पॉलिसी आपके जोखिम को कवर करने के लिए है. इसे टैक्‍स बचत के विकल्‍प के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें – Budget 2022 : ओमिक्रॉन खा गया सरकार का ‘हलवा’, संक्रमण के डर से पहली बार टूटी परंपरा


यहां निवेश कर पा सकते हैं बीमा से ज्‍यादा रिटर्न
सरकार की ओर से पेश की जाने वाली कई बचत योजनाएं बीमा पॉलिसी पर मिलने वाले ब्‍याज से ज्‍यादा रिटर्न देती हैं. इसमें भी आपको 80सी के तहत Income Tax छूट मिल जाती है. लोकप्रिय योजनाओं में सुकन्‍या समृद्धि योजना पर 7.6%, पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) पर 7.1% और नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC) पर 6.8% रिटर्न मिल रहा है. इसके अलावा इक्विटी लिंक्‍ड सेविंग स्‍कीम (ELSS) जैसी म्‍यूचुअल फंड योजनाओं पर भी 1.5 लाख की टैक्‍स छूट मिल जाती है और इस पर 10 फीसदी से ज्‍यादा का रिटर्न भी मिल सकता है.

Tags:Income tax, Investment tips