खुशखबरी! लगातार 6 दिन की बढ़ोतरी के बाद आज थमे पेट्रोल-डीजल के दाम

अगस्त के मध्य से पेट्रोल की कीमत 3.79 रुपये लीटर, जबकि डीजल 4.21 रुपये लीटर महंगा हुआ है. इसका प्रमुख कारण अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये के रिकार्ड न्यूनतम स्तर पर पहुंचना है.

news18 hindi , News18Hindi
पेट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों से परेशान लोगों के लिए थोड़ी राहत की खबर है. पिछले कई दिनों से बदस्तूर जारी इजाफे के बाद बुधवार को तेल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ. मुंबई में एक लीटर पेट्रोल की कीमत मंगलवार की ही तरह 88.26 रुपये, जबकि दिल्ली में यह 80.87 रुपये प्रति लीटर की कीमत पर मिल रहा है. वहीं डीजल के दाम मुंबई में 77.47 रुपये प्रति लीटर, जबकि दिल्ली में 72.97 रुपये प्रति लीटर पर बरकरार है. इससे पहले सोमवार को दिल्ली में पेट्रोल का भाव 80.73 रुपये लीटर, जबकि डीजल 72.83 रुपये प्रति लीटर पर मिल रहा था.बता दें कि अगस्त के मध्य से पेट्रोल की कीमत 3.79 रुपये लीटर, जबकि डीजल 4.21 रुपये लीटर महंगा हुआ है. इसका प्रमुख कारण अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये के रिकार्ड न्यूनतम स्तर पर पहुंचना है.जल्द शुरू होने वाली है मोदी सरकार की ये खास स्कीम, पूरे देश में एक ही कार्ड से कर सकेंगे लेन-देन

उधर पट्रोल और डीजल के दाम में तेजी के खिलाफ कांग्रेस ने सोमवार को भारत बंद बुलाया था. इस बंद में विपक्ष की 21 पार्टियों ने उसका साथ दिया. विपक्ष ईंधन को सस्ता करने के लिए टैक्स घटाने की मांग कर रहा है. हालांकि सरकार ने साफ किया है कि फिलहाल एक्साइज़ ड्यूटी में कटौती का उसका कोई इरादा नहीं है.UPA में ज्यादा बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम या फिर NDA में? जानें कितने सही हैं आंकड़ेखुदरा ईंधन की कीमत में करीब आधा हिस्सा केंद्रीय तथा राज्यों के टैक्स का है. तेल कंपनियों के अनुसार, रिफाइनरी में पेट्रोल की लागत करीब 40.50 रुपये लीटर है, जबकि डीजल 43 रुपये लीटर बैठता है.केंद्र फिलहाल पेट्रोल पर 19.48 रुपये लीटर, जबकि डीजल पर 15.33 रुपये प्रति लीटर उत्पाद शुल्क वसूलती है. इसके ऊपर राज्य सरकारें वैल्यू ऐडैड टैक्स (वैट) लगाती हैं. सबसे कम वैट अंडमान निकोबार द्वीपसमूह में है. वहां दोनों ईंधन पर छह प्रतिशत कर वसूला जाता है. वहीं मुंबई में पेट्रोल पर वैट सबसे ज्यादा 39.12 प्रतिशत, जबकि तेलंगाना में डीजल पर सबसे ज्यादा 26 प्रतिशत वैट है. दिल्ली में पेट्रोल और डीजल पर वैट क्रमश: 27 प्रतिशत और 17.24 प्रतिशत है. (भाषा इनपुट के साथ)अभी और बढ़ सकते हैं पेट्रोल-डीजल के दाम, जानें वजह... 

Trending Now