Home / News / business /

ITR Filing : जानें क्‍या है रिटर्न भरने की आखिरी तारीख, चूके तो हो जाएगी जेल

ITR Filing : जानें क्‍या है रिटर्न भरने की आखिरी तारीख, चूके तो हो जाएगी जेल

31 दिसंबर तक कुल 5.89 करोड़ करदाताओं ने अपना ITR फाइल किया था.

31 दिसंबर तक कुल 5.89 करोड़ करदाताओं ने अपना ITR फाइल किया था.

इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट 31 दिसंबर तक रिटर्न न भर पाने वालों को एक और मौका दे रहा है. इसके लिए आपको जुर्माने के साथ ITR भरना पड़ेगा, लेकिन अन्‍य मुश्किलों से बच जाएंगे. आज ही अपनी देनदारी के हिसाब से जुर्माना भरकर रिटर्न फाइल कर दें.

नई दिल्‍ली. वैसे तो एसेसमेंट ईयर 2021-22 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न (income tax return) या आईटीआर फाइलिंग की लास्ट डेट 31 दिसंबर, 2021 थी. इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट कुछ पेनाल्‍टी और लेट फीस के साथ 31 मार्च, 2022 तक रिटर्न भरने की सुविधा दे रहा है. इस ड्यू डेट तक भी रिटर्न फाइल नहीं किया गया तो सरकार आपके खिलाफ मुकदमा चला सकती है.

31 दिसंबर तक रिटर्न नहीं भर पाने वाले करदाता अपने टैक्‍स स्‍लैब के अनुसार पेनाल्‍टी भरकर ITR पूरा कर सकते हैं. यदि टैक्स की देनदारी होने के बावजूद 31 मार्च तक भी आईटीआर नहीं भरा गया तो न्यूनतम 3 साल और अधिकतम 7 साल की जेल हो सकती है. ऐसे करदाताओं से इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट बकाया टैक्स और ब्याज के अलावा देनदारी पर 50 से 200 फीसदी का जुर्माना भी लगा सकता है. सरकार चाहे तो करदाता के खिलाफ मुकदमा भी चला सकती है.

ये भी पढ़ें – बजट के बाद सस्‍ते हो सकते हैं मोबाइल और गैजेट्स, जानें क्‍या कदम उठाएगी सरकार

10 हजार से ज्यादा बकाया तो हो सकती है मुश्किल
आयकर नियमों के मुताबिक, सरकार ITR भरने में फेल होने वाले हर करदाता के खिलाफ मुकदमा नहीं चलाती है. टैक्स डिपार्टमेंट केवल उन्‍हीं मामलों में मुकदमे की कार्रवाई करता है, जब टैक्स की देनदारी 10 हजार रुपये से ज्‍यादा हो. अगर टैक्सेबल इनकम 5 लाख रुपये से ज्‍यादा है तो करदाता को 5 हजार रुपये तक जुर्माना देना पड़ सकता है. हालांकि, टैक्सेबल इनकम 5 लाख से कम होने पर जुर्माने की राशि 1,000 रुपये हो जाएगी.

Tags:Income tax, ITR filing